दरभंगा। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत मिशन दिवाली और वर्ष 2016-17, 2017-18 एवं 2019-20 में प्राप्त लक्ष्य के विरूद्ध आवास की पूर्णता एवं निबंधन व जियो टैगिग की दैनिक प्रगति कई प्रखंडों में अत्यंत खराब पाए जाने के कारण संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारियों एवं ग्रामीण आवास सहायकों से स्पष्टीकरण पूछा गया है। इसमें बहादुरपुर, बेनीपुर, बिरौल, दरभंगा सदर, गौड़ाबौराम, घनश्यामपुर, हनुमाननगर, हायाघाट, केवटी, मनीगाछी, सिंहवाड़ा एवं तारडीह प्रखंडों के बीडीओ के नाम शामिल हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) का तीव्रगति से क्रियान्वयन करने के लिए ग्रामीण आवास सहायकों की नियुक्ति की गई है, लेकिन कतिपय ग्रामीण आवास सहायकों द्वारा आवंटित कर्तव्यों के निर्वहन में दिलचस्पी नहीं ली जा रही है। डीएम ने 15 अक्टूबर को योजना की प्रगति की समीक्षा की थी, जिसमें कई प्रखंडों में आवास योजना की प्रगति काफी खराब पाई गई थी। डीएम ने ऐसे ग्रामीण आवास सहायकों को चिन्हि्त कर उनके विरूद्ध कार्रवाई करने का निर्देश दिया था। उसके आलोक में उप विकास आयुक्त ने खराब प्रदर्शन करने वाले करीब तीन दर्जन ग्रामीण आवास सहायकों को चिन्हि्त कर उनसे स्पष्टीकरण पूछा है और उनके 15 दिनों तक के मानदेय भुगतान पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दिया गया है। सभी आवास सहायकों को 24 घंटे के अंदर प्रखंड विकास पदाधिकारी के माध्यम से तथ्यात्मक, सकारण स्पष्टीकरण समर्पित करने का निदेश दिया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप