दरभंगा। लहेरियासराय थाने क्षेत्र के उर्दू मोहल्ला स्थित रामजानकी मंदिर चौक पर बुधवार को ठोकर लगने के विवाद में दर्जनों युवकों ने एक दुकान पर हमला कर दुकानदार को जमकर धुनाई कर डाली। लोगों के समझाने के बावजूद कोई मानने को तैयार नहीं थे। बाद में स्थिति को देख मोहल्ला के लोग आक्रोशित हो गए और सभी हमलावर को खदेड़ दिया। इस दौरान कुछ युवकों की धुनाई भी हुई। मामले को लेकर स्थानीय दुकानदार एवं सुदिष्ठ महतो के पुत्र सिनोद कुमार ने हमलावर पर दुकान में लूटपाट कर 35 हजार रुपये ले जाने और दुकान के सारे सामान को सड़क पर फेंककर क्षतिग्रस्त करने का आरोप लगाया है। हालांकि, इस मामले में किसी को नामजद नहीं किया गया है। लेकिन, आवेदन में शाहिद रब के नाम का उल्लेख है। कहा है कि हमलावर बार-बार अपने को शाहिद रब का आदमी होने की बात कह रहा था। घटना की सूचना मिलते ही नगर थानाध्यक्ष सीताराम प्रसाद, कोतवाली ओपी प्रभारी उदय शंकर व लहेरियासराय थानाध्यक्ष आरके शर्मा सहित भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात कर दिया गया। दंगा नियंत्रण दस्ता के जवान भी मोर्चा को संभाल जगह-जगह तैनात हो गए। इसके बाद जाकर स्थानीय लोगों का आक्रोश शांत हुआ। हालांकि, बीच-बीच में प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी होती रही और दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग लोग करते रहे। घटना के संबंध में बताया जाता है कि सिनोद अपनी दुकान का सामान खरीदने के लिए साइकिल से दरभंगा टावर जा रहा था। इस बीच उसे पीछे से स्कूटी सवार ने ठोकर मार दिया। इस विवाद को लेकर दोनों तरफ से आरोप-प्रत्यारोप चल ही रहा था कि स्कूटी के पीछे बैठे युवक ने फोनकर लगभग 25-30 युवकों को बुला लिया। डर से सिनोद भागकर दुकान में चला गया। इसके बाद उसके दुकान में सभी लोग घुसकर कोल्ड ¨ड्रक्स की बोतलें, टॉफी के डिब्बे आदि सामान को सड़क पर फेंकने लगा और सिनोद को दुकान से खींचकर बाहर निकाल लिया। इसके बाद उसकी जमकर धुनाई कर दी। हंगामा होता देख स्थानीय लोगों ने पहले समझाने की कोशिश की। लेकिन, कोई बात मानने को तैयार नहीं हुए। इसके बाद मोहल्ला के लोगों ने सभी खदेड़ दिया। फिलहाल मोहल्ला में शांति व्यवस्था कायम है। लेकिन, भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती है।

Posted By: Jagran