दरभंगा [जेएनएन]। कमतौल थाने के जहांगीर टोला निवासी मो. हबीब के पुत्र मो. तमन्ने ने रविवार को एक कांड दर्ज कराया। आरोप था कि पुरानी दुश्मनी में पड़ोसी मो. तस्लीम के पुत्र मो. मुमताज ने जान मारने की नीयत से गर्दन पर तलवार से वार कर दिया। उसने बचाव के लिए हाथ बढ़ाया। इस दौरान दाहिने हाथ की कलाई तलवार से बुरी तरह कट गई। परिजनों ने जाले रेफरल अस्पताल पहुंचाया।

अब इस मामले में नया मोड़ आ गया है। हमले के आरोपित ने इसे झंडोत्तोलन के दौरान अपने पुत्र द्वारा भारत माता की जय बोलने पर मारपीट करने और मदरसा में नहीं घुसने देने का विवाद बताकर बवंडर खड़ा कर दिया है। एसएसपी ने भी प्रथमदृष्टया स्वयं को बचाने के लिए आरोपित की ओर से ऐसा आरोप लगाने की बात कही है। 

 वहीं, हमले के आरोपित मो. मुमताज ने भी वरीय पुलिस अधिकारियों को आवेदन दिया है। कहा कि 15 अगस्त को मदरसा में झंडोत्तोलन के दौरान उसके पुत्र रिजवान के मुंह से अचानक भारत माता की जय निकल गया। इससे मदरसा के मौलवी मो. तमन्ने आक्रोशित हो गए। छात्रों के जाने के बाद उसने रिजवान को रोका और जमकर पिटाई कर दी।

साथ ही मदरसा में नहीं आने की हिदायत दी। छात्र रिजवान ने पिता एवं परिजनों से शिकायत नहीं की। अगले दिन वह मदरसा में पढऩे गया तो उसे बाहर निकाल दिया गया। इसके बाद रिजवान ने पिता मो. मुमताज को पूरी जानकारी दी। दो दिनों तक पिता ने ध्यान नहीं दिया। 19 अगस्त की शाम मौलवी मो. तमन्ने से मुलाकात हो गई।

घटना की जानकारी लेने की कोशिश की। इसी क्रम में तू-तू मैं-मैं और मारपीट हुई। मुमताज का हाथ टूट गया। डीएमसीएच में इलाज कराने आया। अस्पताल से छुट्टी मिलने पर थाने गया। वहां आवेदन नहीं लिया गया। तब आइजी, डीआइजी, एसएसपी, शिक्षा पदाधिकारी से लिखित शिकायत की। 

वहीं, मौलवी मो. तमन्ने ने बताया कि वह खुद भारत माता की जय एवं वंदे मातरम बोलते ही नहीं, बल्कि छात्रों को भी पढ़ाते हैं। मदरसा के हेड मौलवी शमशाद आलम ने बताया कि इस विवाद से मदरसे का कोई लेना-देना नहीं है। घटना उनके घर पर हुई। मदरसे को बदनाम किया जा रहा है। 

कमतौल थानाध्यक्ष कुंदन कुमार ने कहा कि 19 अगस्त की शाम मौलवी मो. तमन्ने पर जानलेवा हमला किया गया। इसकी प्राथमिकी दर्ज की गई। खोजबीन शुरू की गई तो 21 अगस्त से मुमताज ने ऐसा आरोप लगाना शुरू किया है। यह संदेह पैदा करता है। मामले की जांच की जाएगी।

एसएसपी दरभंगा ने कहा-

मुमताज पर जानलेवा हमले का आरोप है। उसकी गिरफ्तार के लिए छापेमारी की जा रही है। केस होने से पहले उसकी ओर से कोई शिकायत नहीं की गई। प्रथम ²ष्टया प्रतीत हो रहा है वह स्वयं को बचाने के लिए ऐसा आरोप लगा रहा है। मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है। 

-मनोज कुमार, एसएसपी, दरभंगा।

 

Posted By: Kajal Kumari