दरभंगा। देश भर में एनआरसी, एनपीआर व सीएए के विरोध में जनसभाएं हो रही है। लड़ाई लड़ने के लिए चेहरे की जरूरत नहीं होती है। लड़ाई चेहरे की मोहताज नहीं होती है। संविधान बचाओ, लोकतंत्र बचाओ, देश बचाओ अभियान के तहत हर कोई इस काला कानून का विरोध कर रहा है। काला कानून वापस लेना ही होगा। उक्त बातें दरभंगा के राज मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कही। कहा कि यह लड़ाई सरकार के खिलाफ नहीं, आने वाली पीढि़यों के लिए लड़ाई लड़ी जा रही है। साथ ही जनता की हक के लिए, तिरंगा के लिए व लोकतंत्र का भविष्य क्या होने वाला है, उसके लिए भी ये लड़ाई है। इसको लेकर ये जन गण मन यात्रा निकाली गई है। यात्रा का स्वागत दरभंगा वासियों ने पूरे जोर-शोर से किया है। कन्हैया ने कहा कि 29 तारीख को पटना में जन गन मन यात्रा पूरी होगी। 29 तारीख को पटना के गांधी मैदान में आने के लिए आपलोगों को आमंत्रण देने आया हूं। यह यात्रा बाबू धाम से गांधी मैदान तक निकाली गई है। यह लड़ाई पार्टी, व्यक्ति, तिरंगा, मंच और जनता की है। सरकार तोड़ने का नहीं जोड़ने का काम करें। सरकार एनआरसी के नाम पर जनता को गुमराह कर रही है। साथ ही कहा कि संविधान को बचाने के लिए लोगों को सड़क पर आना ही होगा। जनसभा को धीरेंद्र झा, भुवनेश्वर यादव, अविनाश ठाकुर, नारायण झा व अन्य लोगों ने संबोधित किया।

------------------

मंच पर आते ही बिफरे कन्हैया :

राज मैदान आते ही कन्हैया कुमार जनसभा की कुव्यवस्था को देख बिफर पड़े। आयोजकों से कुव्यवस्था को लेकर नाराजगी दिखाई। मंच पर आते ही लोग उनके साथ सेल्फी लेने के लिए उमड़ पड़े, स्थिति अनियंत्रित होते देख कन्हैया कुमार ने सभी को मंच पर लगी कुर्सियों से दूर रहने के लिए कहा। लेकिन लोग फोटो लेने के लिए बात मानने के तैयार नहीं थे। फिर आयोजकों ने साथ मिलकर कुछ लोगों को मंच से नीचे उतारा और कुछ लोगों को कुर्सियों से दूर कर दिया गया।

----------------

देश में जारी है संघर्ष : शकील

जन गण मन यात्रा में कन्हैया कुमार के साथ शामिल कठवा से विधायक शकील अहमद खान ने कहा कि देश में संघर्ष जारी है। इसके लिए हिदुओं व मुस्लिमों को कट्टरता छोड़कर देश की तरक्की में शामिल शामिल होना चाहिए। साथ ही कहा कि देश में संविधान को तोड़ने का काम किया जा रहा है, जिसको बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। आप सब को इसके लिए पटना के गांधी मैदान में शामिल होने के लिए अपील करने आया हूं।

---------------

धर्म के नाम पर दोबारा नहीं बंटेगा देश :

जाले : देश को दोबारा धर्म के नाम पर नहीं बाटने देंगे। देश में राम के नाम पर नाथूराम की राजनीति नहीं चलने देंगे। उक्त बातें मंगलवार को जाले स्थित काजी अहमद कॉलेज मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए डॉ. कन्हैया कुमार ने कही। साथ ही कहा कि देश में आजादी की लड़ाई के वक्त अंग्रेज देश में हिदू-मुसलमान को लड़ाकर राज किया। आज सत्ताधारी पार्टी हिदू-मुसलमान को लड़ाकर अपनी राजनीति की बात करते हैं। हम एमएलए-एमपी बनने के लिए यह यात्रा नहीं निकली है, हम सरकार के नीतियों के विरोध में यह यात्रा निकाली गई है। हम गांधी आश्रम से गांधी मैदान तक यह यात्रा निकली है।आपको 29 फरवरी को पटना के गांधी मैदान में जन जागृति रैली के लिए आमंत्रण देने आया हूं। कन्हैया ने कहा कि असम में एनसीआर लागू किया, जिसमें 19 लाख लोग एनआरसी से बाहर हो गए। इसमें 15 लाख लोग हिदू थे। मात्र चार लाख मुसलमान थे। जनसभा के कटिहार जिले के कड़वा के विधायक शकील अहमद खान ने भी संबोधित किया। मौके पर सुधीर कुमार, सादिक आरजू, आमिर एकवाल, प्रो. सब्बीर अहमद बेग शामिल थे।

------------------

मोदी व अमित शाह की हिटलरशाही को खत्म करने की जरूरत :

अलीनगर : सीएए, एनआरसी व एनपीआर के विरोध में निकाली गई जन गण मन यात्रा के तहत अलीनगर हाट मैदान में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कन्हैया कुमार ने कहा कि यह एक बड़ी लड़ाई है और इस लड़ाई में सभी आपसी मतभेद को भुलाकर एकजुट होने की जरूरत है। मोदी व अमित शाह की हिटलरशाही को खत्म करने मे सहयोग करें। उन्होंने कहा कि हम आज कि लड़ाई नही लड़ रहे हैं, बल्कि आने वाली पीढि़यों व बच्चों के भविष्य कि लड़ाई लड़ रहे हैं। जनसभा को शकील अहमद खां, रामकुमार झा, नवीहसन कारी, विद्दानंद राम, महमुद आलम, तारिक सफी, मनेसूर्र रहमान, विपल्व चौधरी, चंदेश्वर सिंह, मोहीउद्दीन अंसारी, रविशंकर यादव सहित अन्यों ने भी जनसभा को संबोधित किया।

------------

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस