दरभंगा। मिथिला स्टूडेंट यूनियन की बैठक रविवार को हुई। इसमें मौजूद छात्र नेताओं ने मिथिलावासियों से आह्वान किया कि मैथिली जन भरु हुंकार, चीनी मिल अपन अधिकार के तहत आंदोलन में सभी सहयोग हैं। एमएसयू की समीक्षात्मक इस बैठक में आंदोलन से पहले मिथिला में जन जागरण करने पर बल दिया गया। वक्ताओं ने कहा कि मिथिला क्षेत्र का सर्वांगीण विकास सिर्फ चीनी मील खोलकर किया जा सकता है। इस क्षेत्र में गन्ना ही प्रमुख नगदी फसल है। चीनी मील नहीं रहने से किसान इसकी खेती नही करते। दूसरी ओर जो किसान खेती करते है उनको भी औन-पौन दाम में उसे बेचना पड़ता है। मिथिलांचल की आर्थिक समृद्धि एक मात्र चीनी मील से ही संभव है। इसके लिए आंदोलन ही एक मात्र रास्ता बचा है। मौके पर अजय कुमार, आशुतोष राज, विमल मैथिल, अजीत कुमार झा, निकिता गुप्ता, सौरभ, लक्ष्मण कुमार, शुभम झा ओम, विकास, विद्याभूषण राय, सागर आदि ने विचार रखे।

---------------

पीजी वनस्पति विज्ञान के शिक्षकों में प्रसन्नता

दरभंगा, संस : लनामिविवि के वीसी प्रो. एस कुशवाहा को लगातार कई पुरस्कारों से सम्मानित होने पर पीजी राजनीति विज्ञान के शिक्षकों में प्रसन्नता व्याप्त है। विभागाध्यक्ष डा. रामदेव राय ने शविार को प्रेस बयान जारी कर कहा है कि वीसी के संबंध में हाइकोर्ट के निर्णय से उन सबको काफी खुशी है। सौ अति प्रभावशाली कुलपतियों में इस विवि के वीसी का नाम शामिल होने से मिथिला का गौरव बढा है। राष्ट्रीय मानचित्र पर विवि के नाम होने से किसी भी तरह के प्रस्ताव को गंभीरतापूर्वक लिया जाता है। प्रसन्नता व्यक्त करनेवालों में डा. जितेंद्र नारायण, सुनील कुमार सुमन, उपेंद्र प्रसाद यादव शामिल है।