बक्सर : सिमरी प्रखंड के छोटका राजपुर में बुधवार की शाम तीन बजे पहुंचे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा की कमान बक्सर पुलिस ने पहले ही संभाल रखी थी। बावजूद इसके कार्यक्रम प्रस्तावित होने के बाद मंगलवार से ही सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी में यूपी के कमिश्नर से लेकर तमाम पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी जुटे थे। अधिकारियों ने छोटका राजपुर में बनाए गए हेलीपैड से लेकर यूपी सरकार में परिवहन मंत्री के घर तक की चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था का बुधवार को भी सीएम के आगमन के पूर्व जायजा लिया। इस दौरान करीब तीन घंटे तक यूपी के अधिकारी चप्पे-चप्पे की जांच करने में लगे रहे। अधिकारियों में शामिल यूपी के कमिश्नर समेत बलिया की डीएम सौम्या अग्रवाल और एसपी राज किरण नैयर सहित अन्य कई वरीय अधिकारियों ने बक्सर डीएम अमन समीर, एसपी नीरज कुमार सिंह, एसडीओ कुमार पंकज और एएसपी श्रीराज के साथ बैठक कर सीएम योगी के श्रद्धांजलि सभा में पहुंचने के कार्यक्रम की रूपरेखा पर गहरा मंथन किया।

यहां कार्यक्रम की कमान संभालने के लिए बक्सर पुलिस और प्रशासन के अलावा यूपी पुलिस के तमाम अधिकारी मौजूद रहे। हेलीपैड से परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह के घर तक कहां कितने लोग सुरक्षा में तैनात रहेंगे, कितने लोगों की व्यवस्था की गई है, परिवहन मंत्री के घर के सामने का घेरा जहां पर सुरक्षा व्यवस्था रहेगी वो मानकों के अनुसार हैं कि नहीं इन सभी बातों पर अधिकारियों से लेकर सुरक्षाकर्मियों की पैनी नजर थी। मंगलवार को शाम में ही सीएम योगी के आगमन को लेकर यहां कितने सुरक्षा कर्मी मौजूद रहेंगे इसका पूरा ब्योरा एसपीजी ने यूपी पुलिस के अधिकारियों से ले लिया था। सुरक्षा व्यवस्था में कोई चूक न हो इसको लेकर मुख्य प्रवेश द्वार से लेकर कई जगह मेटल डिटेक्टर लगाए गए थे। यहां हर आने जाने वाले लोगों पर पुलिस पदाधिकारियों की नजर थी। खासकर चंद दूरी पर स्थित बिहार से यूपी को जोड़ने वाली गंगा तट पर ठहरने वाले बाहरी लोगों पर पुलिस अधिकारियों की पैनी नजर थी।

सीएम योगी से नहीं हुई मुलाकात, निराश होकर लौटे कई नेता

पहली बार बुलडोजर बाबा के नाम से चर्चित यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के छोटका राजपुर आगमन को लेकर यहां भारतीय जनता पार्टी और सहयोगी दलों के नेताओं और कार्यकर्ताओं में सुबह से ही बहुत उत्साह देखने को मिला, लेकिन, यूपी सरकार के मंत्री दयाशंकर सिंह के पिता की श्रद्धांजलि सभा में महज 20 से 22 मिनट तक रहे मुख्यमंत्री योगी की सुरक्षा व्यवस्था इतनी तगड़ी थी कि यहां ज्यादातर नेताओं को इनके पास पहुंचने का भी मौका नहीं मिला। सीएम योगी हेलीपैड से सीधे परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह के घर पहुंचे और उनके दिवंगत पिता को पुष्प अर्पित करने के बाद स्वजन से मुलाकात कर उन्हें ढांढस बंधाते हुए पुन: गोरखपुर के लिए रवाना हो गए। इस दौरान कार्यक्रम स्थल पर सुबह से ही सीएम योगी से मिलने की उम्मीद लेकर चक्कर लगा रहे ज्यादातर नेताओं को निराश होकर वापस लौटना पड़ा।

सभी मार्गों पर हुई थी बैरिकेडिग, आमलोग रहे परेशान

योगी आदित्यनाथ के छोटका राजपुर में आगमन को लेकर सुरक्षा व्यवस्था के लिहाज से सिमरी राजपुर मुख्य मार्ग पर राजा के बगीचा, बड़का राजपुर मुख्य पथ और गंगा नदी के किनारे कोईलवर तटबंध पर करीब तीन किमी के दायरे में बैरिकेडिग की गई थी। इधर बुधवार को गुरु पूर्णिमा के अवसर पर छोटका राजपुर गांव से कुछ ही दूरी पर स्थित ब्रह्मा विद्यालय आश्रम (स्वामी जी के मठिया) पर पहुंचने वाले हजारों श्रद्धालुओं को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। वाहनों का प्रवेश उपरोक्त सभीं मार्गों पर वर्जित था, जिसके चलते श्रद्धालुओं और ब्रह्मा विद्यालय आश्रम से जुड़े अनुयायियों को इस भीषण गर्मी के दौरान पैदल ही काफी लंबी दूरी तय करनी पड़ी।

Edited By: Jagran