बक्सर : इलाके के विभिन्न भागों में कृषि कार्य के ऐन मौके पर यूरिया खाद की अनुपलब्धता और किल्लत के नाम पर मनमानी रेट पर बिक्री को लेकर आक्रोशित किसानों ने सोमवार को स्थानीय प्रखंड परिसर में जनशक्ति संगठन के बैनर तले जिला और प्रखंड कृषि पदाधिकारी का पुतला जलाया। इस दौरान किसानों ने जमकर नारेबाजी की। इस दौरान किसानों ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि गेहूं फसल की बुआई के दौरान डीएपी की किल्लत थी और अब गेहूं की पटवन के बाद यूरिया खाद के छिडकाव की बारी आई तो यूरिया की किल्लत बता कर जमाखोरों के द्वारा किसानों से 350 से 400 रुपए प्रति बैग वसूला जा रहा है।

किसानों ने कहा कि अविलंब यूरिया खाद नहीं मिला तो अनुमंडल के विभिन्न चौक चौराहों पर चक्का जमा किया जाएगा, जिसकी सारी जिम्मेवारी जिला प्रशासन एवं राज्य सरकार की होगी। पुतला दहन का नेतृत्व राजन कुमार सिंह ने किया। इस दौरान आक्रोशित लोगों ने कहा कि विभिन्न समस्याओं को झेलते हुए किसान कृषि कार्य करते हैं। जब खेतों में भी खाद छिड़काव की बारी आती है तो यूरिया को आउट आफ मार्केट कर दिया जाता है। यही नहीं किल्लत दिखाकर किसानों का आर्थिक शोषण किया जाता है। इस दौरान नंदलाल पंडित, नागेंद्र सिंह, राजू यादव, मनोज सिंह और रजनीश प्रताप सहित कई लोग शामिल रहे। उधर, प्रखंड कृषि पदाधिकारी दिलीप कुमार सिंह ने बताया कि प्रखंड के कुल सात उर्वरक दुकानों पर नौ सौ बोरा यूरिया मिला, जिसे प्रखंड प्रमुख ऋषिकांत सिंह की मौजूदगी में किसानों के बीच वितरित कराया गया है। कृषि पदाधिकारी ने कहा किसान धैर्य रखें यूरिया की कमी नहीं होगी।

Edited By: Jagran