बक्सर। लोकसभा चुनाव के महीनों गुजर गए हैं, लेकिन चुनाव कार्य में उपयोग की गई  निजी गाड़ियों के किराए का अबतक भुगतान नहीं हुआ है। भुगतान को लेकर प्रखंड के वाहन मालिक प्रत्येक दिन प्रखंड मुख्यालय का चक्कर लगाते रहते हैं। चुनाव के दौरान बनाए गए वाहन कोषांग के पदाधिकारी को जिम्मेवारी दी गई थी कि चुनाव कार्य में लगे गाड़ियों का सही तरीके से आकलन कर उसका ससमय भुगतान कर दिया जाए। सरकार द्वारा इस कार्य के लिए राशि भी आवंटित कर दी गई है। बावजूद, समय पर भुगतान नहीं किया गया है।

लोकसभा चुनाव के दौरान अधिकारियों और कर्मियों को बूथों तक पहुंचाने के लिए तिपहिया और चार पहिया वाहनों को लगाया गया था। इसके लिए वाहन मालिकों को विभाग द्वारा तय राशि का भुगतान दिया जाना था। लोकसभा चुनाव को बीते पांच महीने से अधिक हो गए। वाहन मालिकों का आरोप है, कि हमें कुछ नहीं बताया जाता, सिर्फ आश्वासन दिया जाता है, कि शीघ्र ही भुगतान कर दिया जाएगा। अपनी मांगों को लेकर पहुंचे वाहन मालिक शिवब्रत पाल, उमेश सिंह, प्रमोद यादव, विनोद साह, नरेंद्र सिंह, अभय कुमार, राजेश कुमार आदि ने प्रखंड विकास पदाधिकारी की अनुपस्थिति में अपनी समस्या प्रधान लिपिक रामकुमार सिंह के पास  रखी। लेकिन, इनके द्वारा भी सिर्फ भरोसा दिलाया गया कि इसके लिए  वरीय अधिकारी को अवगत कराया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस