बक्सर : पिछले दिनों जहां डुमरांव के वार्ड संख्या 16 में दिनदहाड़े रमेश केशरी नामक व्यवसायी की जमीन की बाउंड्री तोड़कर भू-माफियाओं ने उस पर कब्जा जमाने की कोशिश की वहीं, अब जिला मुख्यालय में भी सरकारी जमीन पर कब्जा करने के लिए भी औद्योगिक इकाई की बाउंड्री को तोड़ दिया गया। आश्चर्य की बात यह है कि इन दोनों मामलों में पुलिस की भूमिका बेहद शर्मिंदगी भरी रही। थाना न•ादीक होने के बाद तथा सूचना दिए जाने के बावजूद भी पुलिस ने कोई संज्ञान नहीं लिया।

सूत्रों की माने तो भू-माफियाओं की मिलीभगत के कारण प्राथमिकी तक नहीं दर्ज की गयी। ऐसे में पीड़ित व्यक्ति ने जिला पदाधिकारी को पत्र लिखकर मामले में उचित कार्रवाई करने का अनुरोध किया है। भू-माफियाओं के द्वारा जमीन कब्जा किए जाने का एक बड़ा गैंग पूरे जिले भर में काम कर रहा है। औद्योगिक क्षेत्र में औद्योगिक इकाई संचालक रवि शंकर राय ने अपने आवेदन में बताया है कि भू-माफियाओं के द्वारा सरकारी संपत्ति का नुकसान कर अवैध रास्ता कायम करने के लिए औद्योगिक क्षेत्र में अवस्थित उनके औद्योगिक इकाई प्लॉट संख्या ई-4,5 की बाउंड्री को तोड़ दिया गया है। दरअसल, इस इकाई के पूरब भू-माफियाओं के द्वारा जमीन की बिक्री की गई है, जहां जाने के लिए रास्ता नहीं है। ऐसे में वह उनकी औद्योगिक इकाई से अवैध रास्ता कायम करने की कोशिश कर रहे हैं। जिसके तहत रातों-रात उन्होंने उनकी औद्योगिक इकाई की बाउंड्री को तोड़ दिया। ऐसे में वह काफी दबाव तथा भय महसूस कर रहे हैं। इतना ही नहीं उनके यहां काम करने वाले श्रमिक भी दहशत के साए में हैं। उन्होंने डीएम से अनुरोध किया है कि भविष्य में किसी प्रकार की अप्रिय घटना ना घटे इसके लिए उन्हें पहल करनी चाहिए। उधर, जिला पदाधिकारी ने बुधवार को औद्योगिक क्षेत्र में पहुंचकर बियाडा के अधिकारियों से जवाब तलब किया है। बहरहाल, अब देखना यह होगा कि जिला मुख्यालय के समीप भू-माफियाओं के इस दुस्साहस पर जिला पदाधिकारी कोई कठोर कदम उठाते हैं अथवा डुमरांव की तरह ही यहां भी भू-माफिया नियम, कायदे और कानून को अंगूठा दिखा कर अपने मंसूबे में कामयाब हो जाते हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021