जागरण टीम, बक्सर : बक्सर के आचार्य नरेंद्र देव मध्य विद्यालय में बच्चों को शुक्रवार को मध्याह्न भोजन योजना के तहत दिए जाने वाले खाने में मेंढक मिला। इस पर छात्रों ने खाना खाने से इनकार कर दिया और हंगामा करने लगे। एनजीओ द्वारा दिए गए एमडीएम के खाने में मेंढक की जानकारी होने पर प्रभारी प्रधानाध्यापक गौरव कुमार सिंह ने इसकी सूचना विभाग को दी। इस संंबंध में पूछे जाने पर जिला कार्यक्रम पदाधिकारी मध्याह्न भोजन योजना नाजिश अली ने बताया कि इसकी जानकारी उन्हें मिली है। उन्होंने बताया कि मामले की जांच कर एनजीओ पर यथोचित कार्रवाई की जाएगी।

थाली में छोले के साथ-साथ मेंढक

बताया जाता है कि शुक्रवार को जब एनजीओ उज्जवल सवेरा का कंटेनर आया और उसमें से बच्चों को खाना दिया जाने लगा तो थाली में छोले के साथ-साथ मेंढक भी परोस दिया गया। खाने में मेंढक देखकर बच्चे सहम गए और हंगामा करने लगे। प्रभारी प्रधानाध्यापक ने बताया कि जब उन्हें इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने बच्चों को खाना खाने से मना कर दिया और एडीएम प्रभारी को इसकी जानकारी दी। 

मध्याह्न भोजन की थाली दिखाती कर्मी। जागरण

एमडीएम प्रभारी ने कही जांच कराने की बात

इस तरह बच्चे भूखे रह गए। एमडीएम प्रभारी ने बताया कि वह मामले की जांच कराएंगे लेकिन, सवाल उठता है कि एनजीओ द्वारा ऐसी लापरवाही कैसे की गई जब वह खाना छोटे बच्चों को दिया जाना है। सवाल खड़ा होता है कि एनजीओ के द्वारा जिस स्थान पर बच्चों का खाना बनाया जाता है क्या वहां इतनी भी सफाई नहीं है कि खाने में मेंढक चला गया और किसी को इसकी जानकारी तक नहीं हुई।

नहीं किया फल का वितरण, मेन्यू का अनुपालन नहीं

जिला कार्यक्रम पदाधिकारी एमडीएम को दिए पत्र में प्रभारी प्रधानाध्यापक ने कहा है कि शुक्रवार को बच्चों को खाने के साथ फल का वितरण भी करना है लेकिन, एनजीओ के द्वारा खाने में फल का वितरण नहीं किया गया। उन्होंने यह भी लिखा है कि पूर्व में भी एनजीओ के द्वारा मेन्यू का अनुपालन नहीं किया गया है।

Edited By: Akshay Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट