बक्सर । गंगा के जलस्तर में बढ़ोतरी बुधवार को भले ही कम हुई, लेकिन श्रीकांत राय का डेरा एवं रामदास राय का डेरा पानी से पूरी तरह घिर चुका है। गांव से बाहर निकलने के सारे रास्ते बंद हो चुके हैं। मंगलवार की रात से गंगा का पानी बेनीलाल के डेरा ढाला के समीप बनी सड़क को तोड़ भैरव बाबा स्थान की ओर तेजी से बढ़ रहा है। बुधवार की देर रात तक बेनी लाल के डेरा गांव के भी चारों तरफ से घिर जाने की संभावना है।

इधर, लाल¨सह के डेरा, गर्जन पाठक के डेरा, दादा बाबा के डेरा, टेकमन के डेरा, तिलक राय के हाता आदि गांवों के उत्तरी किनारे सड़क तक पहुंचा पानी धीरे-धीरे बस्ती की ओर बढ़ने लगा है। जबकि बड़कागांव से लेकर केशोपुर तक बक्सर कोईलवर तटबंध से पश्चिम का पूरा इलाका जलमग्न हो गया है। श्रीकांत राय के डेरा गांव निवासी कृष्णा यादव, विमलेश यादव, सोनू राय, सुधीर कुमार, रामाशंकर ¨बद, प्रभु खरवार, श्याम नारायण रजक, लीलाधर यादव, पवन यादव, आचार्य शतानंद मिश्र, श्रीभगवान यादव सहित कई अन्य लोगों ने बताया कि मैदानी भाग में हो रहे पानी के फैलाव से लोग काफी डरे हुए हैं। परसनपाह पंचायत की मुखिया सावित्री देवी, फूलचंद यादव, ददनी यादव, अंगद यादव सहित कई अन्य पंचायत प्रतिनिधियों ने बताया कि गत तीन दिनों से पानी लगातार बढ़ रहा है। राजापुर पंचायत अंतर्गत विनीत लाल के डेरा गांव में संचालित प्राथमिक विद्यालय तौकीर में बाढ़ का पानी घुसने से पठन-पाठन ठप हो गया है। अधिकारियों ने लिया स्थिति का जायजा प्रखंड विकास पदाधिकारी सुनील कुमार गौतम ने बुधवार को बड़का गांव से लेकर गंगौली तक पानी के बढ़ते प्रभाव का जायजा लिया तथा कर्मचारियों को कई आवश्यक दिशा निर्देश दिया। इस आशय की जानकारी देते हुए बीडीओ ने बताया कि स्थानीय प्रशासन गंगा के तटवर्ती पंचायतों के मुखिया प्रतिनिधियों से लगातार संपर्क में है। पल-पल की जानकारियां ली जा रही है। उन्होंने कहा कि बक्सर कोईलवर तटबंध की सुरक्षा को लेकर प्रत्येक एक किलोमीटर की दूरी पर होमगार्ड के जवानों को प्रतिनियुक्त किया गया है।

Posted By: Jagran