Move to Jagran APP

Bhojpur: आठ साल की बच्ची की गोली लगने से मौत, पिता बोले- मुझे मारने आए थे बदमाश; SP ने मामले को बताया संदिग्ध

भोजपुर में घर में घुसकर एक बच्ची की गोली मारकर हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है। पिता का कहना है कि अपराधी चार की संख्या में थे। परिवार ने जमीनी विवाद में हत्या की बात कही है। वहीं पुलिस ने मामले को संदिग्ध बताया है।

By Jagran NewsEdited By: Aditi ChoudharyPublished: Sat, 25 Mar 2023 08:38 AM (IST)Updated: Sat, 25 Mar 2023 08:38 AM (IST)
भोजपुर में आठ साल की बच्ची की गोली मारकर हत्या। अस्पताल में पहुंचे स्वजन और आराध्या सिंह की फाइल फोटो

आरा, जागरण संवाददाता। भोजपुर में बेखौफ अपराधियों ने देर रात घर में घुसकर एक आठ साल की बच्ची की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के बाद इलाके में हड़कंप मचा है। बताया जा रहा है कि जिले के उदवंतनगर थाना क्षेत्र अन्तर्गत भेंलाई रोड स्थित एक घर में शुक्रवार की देर रात हथियारबंद अपराधी घुस गए और फायरिंग कर दी। इस दौरान आठ साल की आराध्या सिंह को गोली लगी और उसकी मौत हो गई। हालांकि, पुलिस ने मामले को संदिग्ध बताया है।

मृतका आठ वर्षीय आराध्या सिंह के पिता कृष्णा कुमार सिंह मूलरूप से रोहतास के दिनारा थाना के कुंड गांव के रहने वाले हैं। वर्तमान में परिवार भेंलाई रोड में मकान बनाकर रहता है। बच्ची के पिता दिनारा में पोल्ट्री फार्म चलाते हैं। बच्ची के पिता ने बताया कि चार की संख्या में हमलावर घर में घुसे थे। मृतका के दाएं पंजरी में गोली के जख्म का निशान पाया गया है। घटना का कारण पूर्व से चला आ रहा भूमि विवाद बताया जा रहा है। मृतक के पिता ने नामजद लोगों पर हत्या कराने का आरोप लगाया है। शनिवार की सुबह शव का पोस्टमार्टम सदर अस्पताल आरा में कराया गया।

पिता को खोज रहे थे बदमाश

पिता के अनुसार, घटना की रात बच्ची भेंलाई रोड स्थित अपने आवास पर अपनी दादी, मां और बुआ के साथ सोई थी। पिता घर पर नहीं थे। रात दस बजे चार की संख्या में आए बदमाशों ने पहले दरवाजा खुलवाया। इसके बाद उन्हें खोजने लगे। जब परिवार के सदस्यों ने विरोध किया तो बदमाशों ने फायरिंग कर दी, जिसमें गोली लगने से उनकी बच्ची की मौत हो गई।

इसके बाद हथियारबंद बदमाश भाग निकले। बाद में वे घर लौटे तो पूरी घटना की जानकारी हुई। सूचना मिलने पर उदवंतनगर पुलिस भी वहां पहुंच गई। पिता के अनुसार, बदमाश उन्हें मारने के इरादे से आए थे। उन्हें लग रहा था कि वे घर में छिपे हैं। इसलिए वे जबरन घुसने का प्रयास कर रहे थे। बच्ची के पिता रोहतास के दिनारा में पोल्ट्री फार्म चलाते है।

चार साल पूर्व भी हुई थी हत्या

मृतका के पिता के अनुसार, साल 2013 से ही छह बिघा जमीन को लेकर विवाद चल रहा है। साल 2019 में दिनारा में छोटे भाई सत्यम सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उस समय उनको भी गोली लगी थी। केस भी हुआ था। इसके बाद आरोपित उनकी भी हत्या करना चाहते हैं। इसी नीयत से घर पर आए थे।

एसपी बोले- मामला संदिग्ध, एफएसएल टीम को बुलाया गया

इधर, भोजपुर एसपी प्रमोद कुमार ने बताया कि मामला शुरुआती जांच में संदिग्ध लग रहा है। घटना रात करीब साढ़े 8:30 बजे के आसपास की है। पुलिस को सूचना शनिवार सुबह करीब चार बजे के आसपास दी गई है। सूचना मिलते ही पांच मिनट के अंदर प्रशिक्षु डीएसपी काजल कुमारी, जो थानाध्यक्ष के प्रभार में है, वह पूरी टीम के साथ पहुंच गई। कुछ देर में सहायक पुलिस अधीक्षक हिमांउ भी पहुंच गए।

पुलिस को घरवालों ने नहीं दी सूचना

आगे के अनुसंधान के लिए एफएसएल की टीम को भी पटना से बुलाया लिया गया है। घटना की जांच में अभी पूरी सच्चाई आनी बाकी है। क्योंकि, मामला थोड़ा संदिग्ध लग रहा है। गोली लगने के बाद बच्ची को किसी प्राइवेट हॉस्पिटल में भी ले गए थे। उस समय उन्होंने पुलिस को सूचना नहीं दी थी। मृत्यु के बाद यह लोग बच्ची को घर लेकर चले गए और अर्धरात्रि के बाद दूसरी बार सदर अस्पताल लेकर आए, जहां पर लड़की को मृत घोषित कर दिया गया।

बाद में परिजन ने पुलिस को इसके बारे में बताया। घर पर सीसीटीवी कैमरा भी है, लेकिन सीसीटीवी कैमरा बंद था। घर में कहीं पर खून के निशान नहीं मिले है। असली अभियुक्त का पता लगाने के लिए पुलिस सभी बिंदु पर जांच कर रही है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.