आरा। महान गणितज्ञ स्व. डॉ. वशिष्ठ नारायण सिंह के निधन के पश्चात बुधवार को उनके पैतृक गांव बसंतपुर में पुन: एक बार विशेष चहल-पहल रही। स्व. सिंह के श्राद्धकर्म में आम से लेकर खास शामिल हुए। इस दौरान पुन: स्व. सिंह के व्यक्तित्व व कृतित्व पर चर्चा होती रही। इस मौके पर मंत्री जय कुमार सिंह ने डॉ. वशिष्ठ नारायण सिंह को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उनके जैसा किसी दूसरे का होना संभव नहीं। वे अद्वितीय थे और हर बिहारी उनकी प्रतिभा पर आजीवन गर्व करेगा। इनके अलावा जनता दल यूनाइटेड के प्रदेश सचिव शैलेंद्र प्रताप सिंह, जदयू के सीतामढ़ी के जिलाध्यक्ष राणा रणधीर सिंह चौहान, बिहार राज्य नागरिक परिषद के पूर्व महासचिव छोटू सिंह भी शामिल थे। वहीं पूर्व सांसद मीना सिंह के नेतृत्व में कई लोग श्राद्धकर्म में शामिल हुए। उनके तैल चित्र पर माल्यार्पण कर श्रृद्धांजलि अर्पित करते हुए उनकी आत्मा की शांति हेतु ईश्वर से प्रार्थना की गई। पूर्व सांसद मीना सिंह ने स्व. सिंह के परिजनों से मिलकर इस दु:ख की घड़ी में उन्हें हिम्मत एवं धैर्य प्रदान करते हुए कहा कि पूरा जनता दल यूनाइटेड परिवार आप सभी के साथ है। श्रद्धांजलि अर्पित करने वालों में अशोक कुमार शर्मा जिलाध्यक्ष, राकेश रंजन पुतुल, आरा महानगर अध्यक्ष, राजीव रंजन श्रीवास्तव, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य, मुकुल कुमार सिंह, प्रखंड अध्यक्ष, उदवन्तनगर, पप्पु चौबे, शैलेश आदि थे। वहीं पूर्व मंत्री राघवेन्द्र प्रताप सिंह, पूर्व मंत्री नागेन्द्र सिंह, जदयू के वरिष्ठ नेता भाई ब्रह्मेश्वर समेत अन्य लोग भी अपना श्रद्धा सुमन अर्पित किए। विदित हो कि गत 14 नवंबर को डॉ. वशिष्ठ नारायण सिंह का पटना में इलाज के दौरान निधन हो गया था। इसके बाद उनके पार्थिक शव को परिजनों ने बसंतपुर लाया और अगले दिन उनका अंतिम संस्कार राजकीय समारोह के साथ किया गया था। इस अवसर पर प्रदेश के कई मंत्री व पूर्व मंत्री के अलावा खास से आम लोग मौजूद थे। इसके बाद भी कई दिनों तक आम से खास लोगों का बसंतपुर पहुंचना जारी रहा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस