संवाद सूत्र, चंद्रमंडी (जमुई): चकाई थाना क्षेत्र के बरमोरिया पंचायत अंतर्गत मंझलाडीह गांव से गिरफ्तार हार्ड कोर नक्सली बलदेव सोरेन को पूछताछ के बाद शनिवार को कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था के बीच जेल भेजा गया। इससे पहले शुक्रवार की देर रात तक पुलिस के वरीय अधिकारी उससे गहन पूछताछ करते रहे। एसपी प्रमोद कुमार मंडल, एएसपी अभियान सुधांशु कुमार, चकाई थानाध्यक्ष राजीव कुमार तिवारी एवं सीआरपीएफ के अधिकारियों द्वारा लगातार गहन पूछताछ की गई। पूछताछ में मिली जानकारी के आधार पर सुरक्षाबलों ने बलदेव को साथ लेकर बरमोरिया पंचायत के इलाकों में छापेमारी भी की लेकिन कोई विशेष सफलता हाथ नहीं लगी।

गिरफ्तार बलदेव सोरेन नक्सलियों के कोर कमांडर और आर्म्स सेक्टर का सदस्य रह चुका है। पूर्व में बलदेव सोरेन प्लाटून कमांडर सिद्धू कोड़ा दस्ते के लिए काम करता था। उसकी गिनती क्रूर नक्सलियों में होती थी। वर्ष 2015 में वह नक्सलियों के ग्रुप के साथ कई बड़ी वारदातें अंजाम दे चुका है। बलदेव की क्रूरता ऐसी थी कि उसने एक को गर्म पानी उड़ेलकर, राड से पीट-पीटकर बेहद क्रूर तरीके से मार डाला था। इस घटना के बाद नक्सली संगठन में उसकी तूती बोलने लगी थी। सूत्र बताते हैं कि जेल से छूटने के बाद वह फिलहाल ढिबरा कारोबार से भी जुड़ गया था। उसकी गिरफ्तारी पुलिस के लिए बड़ी सफलता मानी जा रही है।

एसएसबी ने चलाया स्वच्छता अभियान, लोगों को किया जागरूक

नक्सल विरोधी अभियान के लिए प्रखंड के चरकापत्थर में तैनात सशस्त्र सीमा बल 16वीं वाहिनी सी समवाय के अधिकारियों और जवानों ने स्वच्छता अभियान चलाया। हाथों में झाड़ू, कुदाल लेकर मरियम पहाड़ी अस्पताल परिसर की साफ-सफाई की एवं लोगों से अपने गांव को साफ एवं स्वच्छ रखने की अपील की। लोगों को साफ-सफाई का महत्व समझाते हुए उनमें साफ-सफाई के प्रति जागरूकता पैदा की।

इस मौके पर कंपनी कमांडर पीके मंडल ने कहा कि स्वच्छता से ही देश की तस्वीर बदली जा सकती है। देश में स्वच्छ वातावरण तैयार करने के लिए हम सभी को स्वच्छता को अपने जीवन में स्थान देना होगा। आम-खास सभी को इसे अपनाते हुए एक संकल्प के साथ काम करना होगा। इस मौके पर एसआइ प्रकाश गुरुंग, चतुर ङ्क्षसह, भूपेंद्र लाल, नवरत्न प्रसाद सहित जवान वासुदेव परीदा, एम शिवकुमार, इलियास आदि मौजूद थे।

Edited By: Shivam Bajpai