भागलपुर, जेएनएन। श्रीमद्भागवत कथा का श्रवण करने से मृत्यु का भय सदा के लिए समाप्त हो जाता है। उक्त बातें अपने पैतृक गांव दरियापुर में आयोजित श्रीमद्भागवत कथा के मौके पर केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी चौबे ने कहीं। 2013 में केदारनाथ में आए महाप्रलय का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि उस वक्त वे अपनी तीन पीढिय़ों के साथ वहीं थे। कुलदेवी, देवी-देवता, ऋषि-मुनियों और सगे-संबंधियों के आशीर्वाद की वजह से ही सपरिवार सुरक्षित लौट पाया था। भगवान की विशेष कृपा थी। तभी अपने पैतृक गांव में श्रीमद् भागवत कथा कराने का संकल्प लिया था, जो आज पूरा हो रहा है।

उन्होंने वृंदावन से आए कथावाचक स्वामी अनंताचार्य जी महाराज का स्वागत किया और सपरिवार कथा पूर्व पूजन में शामिल हुए। श्री चौबे ने अपने स्‍वजनों के साथ मिलकर स्वामी अनंताचार्य जी महाराज से आशीवार्द लिए। इसके उपरांत भक्ति गीत संगीत के साथ कथा का शुभारंभ हुआ।

स्वामी अनंताचार्य जी महाराज ने कहा कि जो मन कर्म वचन से श्रीमद् भागवत कथा का श्रवण करते हैं उनके सभी पाप नष्ट हो जाते हैं। जीवन जीने की कला श्रीमद् भागवत सिखाती है। कथा सुनने के लिए सैकड़ों लोगों की भीड़ पहुंची है। पूरा पूजा पंडाल भगवान के जयकारे से गुंजायमान हो रहा था। चंदन ठाकुर भी इस अवसर पर मौजूद थे। 

 

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस