भागलपुर, जेएनएन। मसाढ़ू पुल पर ट्रक की चपेट में आने से बाइक सवार महिला और उसके भाई समेत दो लोगों की मौत हो गई। बाइक पर पांच लोग सवार थे। महिला की पहचान पीरपैंती अठनिया दियारा निवासी विकास यादव की पत्नी रेशमा देवी (22) के रूप में हुई है। रेशमा का छोटा भाई ऋषभ बाइक चला रहा था। इनके अलावा दो वर्ष की भांजी अन्नु प्रिया, रेशमा का देवर राजेश यादव और चचेरा भाई रंजीत यादव भी बाइक पर सवार थे। राजेश यादव (35) को पुलिस ने मायागंज अस्पताल में भर्ती कराया है। उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।

घटना के बाद स्थानीय लोगों ने कहलगांव-भागलपुर मार्ग एनएच-80 पर करीब पांच घंटे तक जाम लगा दिया। पुलिस ने कई बार शव उठाने का प्रयास किया, लेकिन आक्रोशित ग्रामीणों के आगे उसकी एक नहीं चली। सबौर सीओ द्वारा मुआवजे का आश्वासन पीड़ित परिवार को दिया गया। तब ग्रामीणों व परिजनों ने पुलिस को शव उठाने दिया। पोस्टमार्टम के लिए शव भेजे जाने के बाद परिचालन सामान्य कराने में घंटों लग गए।

ससुराल जा रही थी रेशमा : रेशमा का मायका नाथनगर के भतौड़िया गांव में है। वह अपने मायके से पीरपैंती जा रही थी। उसकी शादी विकास के साथ 2017 में हुई थी। विकास बेंगलुरु में एक प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं।

स्थानीय ग्रामीणों के विरोध के कारण लगे जाम की वजह से सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई। इंग्लिश से लैलख तक लोग किसी तरह पैदल आवाजाही कर रहे थे। बाइक सवार जैसे तैसे डायवर्जन को पार कर रहे थी। बड़े वाहनों को जाने के लिए कोई रास्ता ही नहीं था। इस जाम में कई एंबुलेंस और जरूरी सेवाओं की गाड़िया फंसी रहीं।

ओवरलोडेड ट्रक से हुआ हादसा

गिट्टी लदा ओवरलोडेड ट्रक कहलगांव की ओर से आ रहा था। तेज रफ्तार ट्रक को देख ऋषभ ने पुल पर ही बाइक रोक दी। वहीं, ट्रक चालक ने बाइक देखकर संतुलन खो दिया और बाइक सवार लोगों को चपेट में ले लिया। ट्रक चालक घटना के बाद भाग निकला। इस घटना में अन्नु प्रिया और रंजीत बाल बाल बचे।

 

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस