भागलपुर (जेएनएन)। रंगरा ओपी क्षेत्र के चापर ढाला के पास एनएच 31 किनारे मां धर्मकांटा के पास ट्रक चालक की अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक की पहचान नवादा जिला के गोविंदपुर थाना क्षेत्र के पटनदेई निवासी सीताराम यादव के पुत्र विजय यादव के रूप में हुई है। घटना की सूचना मिलने पर रंगरा ओपी की पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंच कर मामले की जांच की। डीएसपी मुख्यालय असरार अहमद ने घटनास्थल पर पहुंच कर जानकारी ली।
घटना में बाल-बाल बचे ट्रक का खलासी मधुबनी जिले के बासोपट्टी थाना क्षेत्र के सिरियापुर निवासी पप्पू ठाकुर ने बताया कि वे दोनों बंगाल के दुर्गापुर से ट्रक में टीएमटी सरिया लोड कर अररिया जा रहे थे। विक्रमशिला पुल पर वाहनों का आवागमन बंद होने के कारण वे दोनों ट्रक लेकर लखीसराय बरौनी होते हुए यहां पहुंचे थे। रविवार की रात बारह बजे ड्राइवर को नींद आने लगी। जिसके कारण चालक ने धर्मकांटा के पास लाइट देखकर वहां पर गाड़ी को लगा दिया और ट्रक के केबिन में दोनों सो गए। रात एक बजे के करीब कुछ लोग केबिन के दरवाजा खटखटाने लगे। वे लोग गाली-गलौज करते हुए केबिन खोलने के लिए कह रहे थे। लेकिन ड्राइवर लूटपाट के भय से केबिन नहीं खोला। वह ड्राइवर शीट पर बैठकर गाड़ी स्टार्ट कर रहे था। इसी बीच अपराधियों ने दरवाजे की जाली से गोली चला दी। गोली सीने में लगी। जिससे ड्राइवर की मौके पर ही मौत हो गई। गोली मारने के बाद सभी अपराधी वहां से चले गए। पुन: पांच मिनट के बाद सभी अपराधी वहां पहुंच कर केबिन का गेट खोलने के लिए बोलने लगे। केबिन का गेट नहीं खोलने पर दरवाजे में लगे जाली को क्षतिग्रस्त कर दिया। हल्ला सुनकर धर्मकांटा के कर्मी लाठी-डंडे लेकर बाहर निकले। वे खलासी को ट्रक से बाहर निकाल कर अपने साथ ले आए। घटना की सूचना रंगरा ओपी पुलिस को दी गई।
चार की संख्या में थे अपराधी
घटना को अंजाम देने पहुंचे अपराधी चार की संख्या में दो मोटरसाइकिल से पहुंचे थे। वे लोग मोटरसाइकिल को घटनास्थल से पश्चिम दिशा में एक सौ मीटर की दूरी पर लगा रखे थे। घटना को अंजाम देने के पश्चात सभी अपराधी मोटरसाइकिल पर फरार हो गए।
लूटपाट के इरादे से आए थे अपराधी
ट्रक के पास अपराधी लूटपाट के इरादे से पहुंचे थे। ड्राइवर को ट्रक का केबिन खोलने के लिए बोल रहे थे। ड्राइवर केबिन खोलने से बजाय स्टेङ्क्षरग शीट पर बैठ गया। यह देख अपराधियों ने गोली चला दी।
नवगछिया एसपी निधि रानी ने कहा कि हत्या के कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है। अपराधियों ने घटना को अंजाम देने के बाद कुछ भी नहीं लूटा है। ड्राइवर को पास रुपये भी सुरक्षित हैं। सीसीटीवी फुटेज की जांच की जा रही है। मामले की जांच के पश्चात सच्चाई सामने आएगी।
सीसीटीवी में कैद हुए चारों अपराधी
धर्मकांटा में लगे सीसीटीवी कैमरा में चारों अपराधियों की तस्वीर रात्रि होने के कारण धुंधली नजर आ रही है। सीसीटीवी कैमरा से रात्रि का फुटेज निकालने के लिए भागलपुर से एक्सपर्ट को बुलाया गया है। वे तस्वीर को साफ कर पहचानने का प्रयास करेंगे। सीसीटी फुटेज को पेन ड्राइवर में स्टोर कर लिया जाएगा।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस