भागलपुर [जेएनएन]। तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय प्रशासन ने पीजी कॉमर्स (सत्र 2018-20) के पहले सेमेस्टर की आंतरिक परीक्षा के अंकों में गड़बड़ी की आशंका जताते हुए रिजल्ट पर रोक लगा दी है। विभाग से बंद लिफाफे में भेजे गए फाइल में कई तरह की गड़बड़ी की बात कही जा रही है।

मामला सामने आने के बाद प्रतिकुलपति प्रो. रामयतन प्रसाद ने कॉमर्स के पूर्व डीन डॉ. एनके सिन्हा और परीक्षा नियंत्रक डॉ. अरुण कुमार सिंह से पूछताछ की। इस दौरान डॉ. सिन्हा और परीक्षा नियंत्रक के बीच काफी तल्ख बातचीत हुई। .

डॉ. सिन्हा ने आरोप लगाया कि डिपार्टमेंट को परीक्षा विभाग से कोई निर्देश नहीं मिला है। ऐसे में शिक्षक अपने मन से क्या कर सकते थे, जबकि परीक्षा नियंत्रक बार-बार गोपनीयता की बात कर रहे थे। हालांकि, डॉ. सिन्हा ने कहा कि यह उनकी ओर से नहीं हुआ है, हो सकता है कि किसी शिक्षक को यह जिम्मेदारी दी गई हो।

वहीं, परीक्षा नियंत्रक ने कहा कि इंटर्नल मार्क्‍स की सही जानकारी नहीं मिलने के कारण फिलहाल रिजल्ट को रोक दिया गया है। कुलपति को पूरे मामले की जानकारी दी जाएगी। इसके बाद रिजल्ट पर विचार किया जाएगा।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस