संसू सिकटी,(अररिया)। गणतंत्र दिवस को लेकर भारत -नेपाल सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है। सीमा पर सभी थाना, ओपी, एसएसबी कंपनी व बीओपी को नियमित तौर पर बार्डर पेट्रोलिंग, जांच और तलाशी अभियान चलाने का भी निर्देश दिया गया है। एसएसबी के 56वीं तथा 52वीं बटालियन के अधिकारियों तथा पुलिस के अपने जवान कई स्थानों पर सघन तलाशी अभियान चला रहे हैं।

भारत नेपाल सीमा पर चौकसी बढ़ी, नियमित अभियान चलाने का दिया गया निर्देश, वाहनों की भी लगातार हो रही चेकिंग

हालांकि सुरक्षा की ²ष्टिकोण से कुर्साकांटा व सिकटी प्रखंड से लगने वाली लगभग 38 किमी की नेपाल सीमा संवेदनशील की श्रेणी में नहीं आते। फिर भी राष्ट्रीय पर्व के मद्देनजर एक हफ्ते से खासा चौकसी देखने को मिल रही है। संदेह होने पर आने-जाने वालों की उनके आई कार्ड (पहचान पत्र) की पड़ताल की जा रही है। सीमावर्ती क्षेत्र के सभी थाना प्रभारियों को अपने-अपने इलाके में सतर्कता बरतने और संदिग्ध पर नजर बनाए रखने के निर्देश मिले हैं।

सिकटी थानाध्यक्ष हरेश तिवारी ने सुरक्षा की जानकारी देते हुए बताया कि 26 जनवरी को लेकर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। सुरक्षा में किसी तरह की कोई लापरवाही इसका पूरा ध्यान रखा जा रहा है। कुआड़ी, मेघा, लैलौखर, सिकटिया, दुब्बाटोला, डुमरिया, सोनामनी, भलूआ, सिकटी, केलाबारी, सैदाबाद, मजरख सहित कई कैम्प के जवान नेपाली पुलिस तथा नेपाल एपीएफ के साथ लगातार पेट्रोलिंग कर रहे हैं।

- सुरक्षा व्यवस्था को लेकर किसने क्या कहा --

वीके वर्मा-(कमांडेट) 52वीं वाहिनी अररिया--सीमावर्ती क्षेत्र के सभी कंपनी व बीओपी को चौकस रहने का निर्देश दिया गया है। सीमा पर जवान पैनी नजर बनाए हुए हैं। नेपाल एपीएफ व नेपाली पुलिस के साथ हमारे जवान लगातार पेट्रोलिंग कर रहे हैं। हर लोगों पर कड़ी नजर रखी जा रही है। एसडीपीओ अररिया पुष्कर कुमार ने कहा गणतंत्र दिवस को लेकर सभी थानों को अलर्ट मोड में रखा गया है।

 

Edited By: Abhishek Kumar