जागरण संवाददाता, अररिया। जिले में इस वर्ष धान की खरीदारी एक नवंबर से शुरू होगी। जिले का लक्ष्य निर्धारित कर दिया गया है। 90 हजार एमटी से बढ़ाकर इस बार एक लाख 31 हजार एमटी कर दिया गया है। 196 पैक्स व आठ व्यापार मंडल का चयन किया गया है। किसानों से 31 जनवरी तक धान की खरीद होगी। इसके लिए सहकारिता विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है। धान का समर्थन मूल्य इस बार 1940 रुपये प्रति ङ्क्षक्वटल की दर पर खरीद होगी।

17 फीसद तक नमी वाले धान लिए जाएंगे। खेतों में पककर तैयार गेहूं की फसल जब किसान काटने के लिए तैयार थे तो अचानक अक्टूबर माह में आई बाढ़ ने उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया। कई इलाकों में धान की फसल कट भी चुकी थी लेकिन बारिश से कारण भीगने से काफी नुकसान पहुंचा है।

किसान सलाहकार के माध्यम से किसान अपना रजिस्ट्रेशन करा ले। निबंधित किसान होंगे उन्हीं से धान लिए जाएंगे। धान की खरीद सभी पंचायतों में पैक्स व व्यापार मंडल द्वारा की जाएगी। जिले में कुल 218 पैक्स है। जिसमें पिछली बार 154 पैक्स व आठ व्यापार मंडल से धान की खरीद 23 नवंबर से शुरू हुई थी। इस बार सहकारिता विभाग से मिली जानकारी के अनुसार 196 पैक्स व आठ व्यापार मंडल चयनित किए गए है। संख्या आगे बढ़ भी सकती है।

अक्टूबर माह में हुई बारिश से फसल को हुआ नुकसान

अक्टूबर माह में हुई बारिश से कई जगहों पर धान की फसल की कटाई भी हो चुकी थी तथा कटाई की तैयारी किसान कर रहे थे। लेकिन लगातार हुई बारिश से धान को काफी नुकसान पहुंचा है। साथ ही देर से धान की कटाई होने पर रबी की बुआई में भी विलंब होगा। अक्टूबर से नवंबर माह तक धान की कटाई हो जानी चाहिए थी। लेकिन धान की खरीददारी अपने निर्धारित समय पर एक नवंबर से शुरू हो जाएगी।

पिछली बार धान खरीदारी की निर्धारित समय सीमा 21 फरवरी तक थी। कुल 71.43 फीसद लक्ष्य प्राप्त हुआ था। समय कम व लक्ष्य अधिक होने के कारण लक्ष्य पूरा नहीं हो सका था। पहले धान खरीदारी की तिथि भी 31 मार्च तक की गई थी। जिसे बाद में 31 जनवरी तक की गई थी। लक्ष्य बढऩे के कारण एक बार फिर तिथि को 31 जनवरी से बढ़ाकर 21 फरवरी तक कर दिया गया था। पिछले वर्ष 23 नवंबर से धान खरीद की प्रक्रिया शुरू हुई थी।

जिला सहकारिता पदाधिकारी मिथिलेश कुमार ने कहा कि धान की खरीदारी एक नवंबर से हर हाल में शुरू हो जाएगी। 31 जनवरी तक धान लिए जाएंगे। निबंधित किसानों से ही 17 फीसद नमी वाले धान लिए जाएंगे। इस बार लक्ष्य काफी बढ़ा दिया गया है। शत फीसद लक्ष्य हासिल करने के लिए किसानों को भी जागरूक होना पड़ेगा। वे अपने धान को आसानी से पैक्स के माध्यम से बेच सकते है। उसका भुगतान भी आसानी से हो जाएगा। जिले का लक्ष्य इस बार 90 हजार एमटी से बढ़ाकर एक लाख एमटी हजार एमटी कर दिया गया है। पैक्सों का चयन हो गया है। 196 पैक्स व आठ व्यापार मंडलों द्वारा धान की खरीद की जाएगी। किसी प्रकार की कोई परेशानी हो तो सहकारिता विभाग से संपर्क कर जानकारी ले सकते है। लक्ष्य पूरा करने के लिए विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है।

 

Edited By: Abhishek Kumar