भागलपुर । टीएनबी लॉ कॉलेज में पढ़ाई के इच्छुक छात्र नए सत्र में नामाकन से वंचित रह सकते है। बार काउंसिल ऑफ इंडिया से कॉलेज को नए सत्र 2018-19 के लिए मान्यता नहीं मिल पाई है। जबकि कॉलेजों में ऑनलाइन नामाकन प्रक्रिया 18 जून से आरंभ हो रही है। ऐसे में तीन व पाच वर्षीय लॉ कोर्स की पढ़ाई करने वाले छात्रों का नामाकन पर संकट गहरा गया है। हालाकि कॉलेज के प्राचार्य ने कहा है कि मान्यता के लिए प्रयास चल रहा है। बार काउंसिल ऑफ इंडिया से मान्यता मिलने के बाद ही नामाकन की प्रक्रिया शुरू की जा सकती है। कई छात्र-छात्राएं इंटर पास करने के बाद पाच वर्षीय लॉ कोर्स में नामाकन कराते है। पार्ट थ्री का रिजल्ट भी जुलाई तक विवि द्वारा जारी किया जा सकता है। उन छात्रों का भी तीन वर्षीय लॉ कोर्स में नामाकन होना है। लेकिन दोनों कोर्स में नामाकन तभी लिया जाएगा, जबकि बार काउंसिल ऑफ इंडिया से मान्यता को लेकर अबतक कोई संकेत नहीं दिए गए है। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि लॉ की पढ़ाई करने वाले उन सैकड़ों छात्रों का क्या होगा, लॉ की पढ़ाई भागलपुर में रहकर करना चाह रहे हैं। इसे लेकर न तो कॉलेज व न ही विवि के अधिकारी कोई स्पष्ट जबाव दे पा रहे है।

लॉ कॉलेज के प्राचार्य प्रो. मधुसूदन सिंह ने बताया कि मान्यता को लेकर प्रक्रिया अपनाई जा रही है। बार काउंसिल से औपबंधिक मान्यता मिलने का इंतजार है। पूर्व में ही मान्यता को लेकर तीन लाख रुपये काउसिल को भेजे जा चुके है। काउसिल से हरी झडी मिलने पर और चार लाख भी भेज दिए जाएंगे। इस बीच कॉलेज को दो शिक्षक भी मिल जाएंगे। शिक्षक की कमी को लेकर कुलपति से बातचीत हुई है, भरोसा मिला है कि छह से आठ फैकल्टी की व्यवस्था की जाएगी। प्राचार्य ने संभावना व्यक्त की है कि मान्यता मिलने पर जुलाई से नामाकन प्रक्रिया शुरू हो सकती है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप