भागलपुर [जेएनएन]। बांका जिले के शंभूगंज थाना अंतर्गत भलूआ गांव में रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा

का पैतृक घर है। घर सुना पाकर चोरों ने लगभग एक लाख रुपये की संपत्ति की चोरी की है। इधर, खबर मिलने पर सोमवार की दोपहर पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की छानबीन की है।

वैसे, मंत्री मनोज सिन्हा पिछले कई वर्षों से गांव नहीं आए हैं। उनके चचेरे भाई अनिमेष कुमार सहित अन्य परिजन भी भागलपुर में रहते हैं। घर का देखरेख अनिमेष की चाची मांडवी देवी करती है।

जानकारी के अनुसार जब मांडवी देवी स्नान करने के बाद मंत्री के बंगले की ओर गई तो दरवाजा खुला पाया। घर का सामान यत्र तत्र फेंका हुआ था। यह देख इसकी सूचना अन्य ग्रामीणों को दी गई। उसके बाद सअनि रामसेवक महतो ने घटना स्थल का जायजा लिया है।

इस बाबत मांडवी देवी ने घर में लगा सिलिंग पंखा, गैस सिलेंडर, बर्तन, फर्नीचर सहित अन्य सामान सहित करीब एक लाख रुपये मूल्य की संपत्ति चोरी होने की जानकारी पुलिस को दी है। वैसे, भागलपुर से अनिमेष के आने के बाद ही सामानों का सही आंकलन किया जा सकता है।

इस बाबत थानाध्यक्ष परीक्षित पासवान ने बताया कि सुनसान घर में चोरी हुई है। घटना स्थल पर पुलिस बल को लगा दिया गया है। अभी तक लिखित शिकायत किसी ने नहीं किया है।

बढ़ रहा अपराध

भागलपुर और बांका जिले में अक्सर अपराधिक घटनाएं होती रहती है। इन दिनों अपराध के ग्राफ में बढ़ोतरी हुई है। अपराधियों ने पुलिस को चुनौती दे रखी है। एटीएम में चोरी, गृह भेदन, घर में डाला, राहगिरों से लूटपाट सहित कई वारदातें रोज होती हैं। इसके बावजूद भी पुलिस सक्रिय नहीं होती। पुलिस के अधिकारी बैठकें कर निर्देश जारी कर देते हैं। उनकी कार्रवाई बैठकों तक ही सीमित कर रह जाती है। अब तो बड़े अधिकारियों और राजनेताओं को भी अपराधी नहीं छोड़ रहे हैं। इधर हाल में कई ऐसे घरों में डाका डाला गया, जो प्रशासनिक स्तर पर बड़े अधिकारी माने जाते हैं। अपराधियों ने रेल राज्य मंत्री के पैतृक घर में चोरी कर मानो पुलिस को चुनौती दे डाली हैं। 

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस