भागलपुर। यात्री ट्रेनों का परिचालन भले ही नहीं हो रहा है, लेकिन मालदा रेल मंडल में महत्वपूर्ण रेल योजनाओं पर फोकस किया जा रहा है। भागलपुर-मंदारहिल-दुमका सेक्शन पर विद्युतीकरण का काम काफी तेजी चल रहा है। इस रेल सेक्शन के भागलपुर-बाराहट स्टेशन के बीच विद्युतीकरण पोल करीब-करीब लगा दिए गए हैं। वहीं, जिन रेल लाइनों के किनारे पोल नहीं लगे हैं वहां पाइलिंग का काम चल रहा है। मार्च-2021 तक इस सेक्शन को पूरी तरह विद्युतीकृत करने का लक्ष्य है। जिस रफ्तार से काम चल रहा, वह समय पर पूरा होता दिख रहा है।

----------------------

इलेक्ट्रिक इंजन से चलेगी ट्रेन, होगी सहूलियत

भागलपुर से दुमका की दूरी 74 किमी है। सिंगल लाइन वाले इस खंड में अभी सफर करने में पैसेंजर ट्रेन को चार से साढ़े चार घटे और एक्सप्रेस को तीन से साढ़े तीन घटे लगते हैं। विद्युतीकरण के बाद यह दूरी दो से ढाई घटे में पूरी होगी। भागलपुर से बांका की दूरी 53 किमी है। वर्तमान में ट्रेनों की स्पीड 30 से 40 किमी प्रति घटे है। विद्युतीकरण और जर्जर पटरियों को बदलने के बाद रफ्तार बढ़कर 70 से 80 हो जाएगी।

------------------

स्टेशन को जंक्शन का दर्जा

हंसडीहा को जंक्शन का दर्जा जल्द मिलेगा। इसके साथ ही स्टेशन भवन का भी विकास होगा। प्रस्ताव पर पहले ही मंजूरी मिल गई है। दरअसल, हसंडीहा से ही गोड्डा लाइन निकलती है और दुमका मार्ग भी हंसडीहा से होकर चलती है। ऐसे में हंसडीहा स्टेशन पूरी तरह जंक्शन बन जाएगा। हसंडीहा-पोड़ैयाहाट-गोड्डा नई रेल लाइन में करीब छह किमी पटरी बिछाने का काम और बचा हुआ है। रेलवे का मानना है कि नंवबर तक लाइन बिछाने का काम पूरा हो जाएगा। संभवत: दिसंबर में इस नई रेल लाइन का मुख्य संरक्षा आयुक्त (सीआरएस) जांच भी कर सकते हैं।

----------------

कोट

भागलपुर-मंदारहिल रेल सेक्शन पर विद्युतीकरण और पटरी बदलने का काम काफी तेजी से चल रहा है। रेलवे ने जो लक्ष्य निर्धारित किया है, वह समय पर पूरा होगा।

-यतेंद्र कुमार, डीआरएम, मालदा रेल मंडल।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप