आनलाइन डेस्क, भागलपुर: बिहार में आरआरबी एनटीपीसी परीक्षा और परिणाम को लेकर मचे बवाल को लेकर छात्र उग्र हुए, जगह-जगह प्रदर्शन किए गए। रेलवे की संपत्ति को नुकसान भी पहुंचा। ऐसे में कइ छात्रों पर केस दर्ज हुए। छात्रों के साथ-साथ शिक्षकों पर मामला दर्ज कराया गया। खान सर पटना वाले और अन्य के खिलाफ पटना के पत्रकार नगर पुलिस ने एफआईआर लाग की। वहीं, इस पूरे मामले पर बिहार में महागठबंधन ने बिहार बंद का आह्वान कर दिया है। शुक्रवार को बंद बुलाया गया है। मामले पर गर्मायी सियासत पर सत्तारूढ़ दल जदयू ने शांति की अपील की है। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह मुंगेर सांसद गुरुवार को ट्वीट करते हुए छात्रों से शांति की अपील की। 

मुंगेर सांसद ललन सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'बिहार-उ.प्र. व अन्य राज्यों में छात्रों का उत्तेजक होना RRB NTPC परीक्षा प्रक्रिया व परिणाम में गड़बड़ी के विरुद्ध प्रतिक्रिया है। रेलवे भर्ती बोर्ड की गड़बड़ियों को देखने के लिए जांच कमिटी बनाई गई है। छात्रों/उम्मीदवारों के साथ अतिशीघ्र न्याय की उम्मीद करता हूं। पटना में खान कोचिंग सहित अन्य कई कोचिंग संस्थान, आनलाइन माध्यम से बिहार व देशभर के गरीब व होनहार युवाओं का भविष्य निर्माण करते हैं। रेलवे/पुलिस इनलोगों के विरुद्ध दर्ज मुकदमों को अविलंब वापस ले। उग्र छात्रों से शांति की अपील करता हूं।'

महागठबंधन ने बुलाया बंद 

बिहार में आज बंद का बुलाया गया है। प्रदेश की सबसे बड़ी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल और उसके सहयोगी दल कांग्रेस, वाम दलों ने इस बंद का समर्थन किया। पार्टी प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने इस संदर्भ में पत्र जारी करते हुए लिखा कि मसले राजद छात्रों का समर्थन करती है। सभी सहयोगी दलों के सांसद, विधायकों, जिलाध्यक्षों और कार्यकर्ताओं से अपील है कि आरआरबी एनटीपीसी परीक्षा रिजल्ट धांधली को लेकर 28 जनवरी को होने वाले बंद को सफल बनाए। अहिंसक रूप से इस बंद में बढ़ चढ़कर हिस्सा लें।

Edited By: Shivam Bajpai