भागलपुर, जागरण संवाददाता। बिहार के मुंगर स्थित बरियारपुर व भागलपुर स्‍टेशनों के बीच ऋषिकुंड हाल्‍ट पर देर रात दानापुर-भागलपुर इंटरसिटी एक्‍सपेस में डकैती की वारदात हुई। मंगलवार की रात ट्रेन जैसे ही रतनपुर स्‍टेशन से खुली करीब 15 अपराधी बाेगियों में बिखरकर लूटपाट करने लगे। ऋषिकुंड हाल्‍ट आने पर भी लूट जारी रही। वहां ट्रेन की पुलिस एस्‍कॅर्ट पार्टी विलंब से पहुंची। हालांकि, पुलिस के पहुंचने पर अपराधी भाग निकले। ट्रेन के खुल जाने पर उन्‍होंने नीचे से पथराव किया, जिसमें दो पुलिसकर्मी व 12 यात्री घायल हो गए। घटना को लेकर जमालपुर (मुंगेर) के रेल एसपी आमिर जावेद ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि कुछ यात्रियों से छिनतई की सूचना मिली है। अपराधियों ने ट्रेन पर पथराव किया, जिसमें दो पुलिसकर्मी भी जख्मी हुए हैं। उन्‍होंने कहा कि रेल पुलिस की सतर्कता से बड़ी घटना टल गई।

दानापुर-भागलपुर इंटरसिटी एक्‍सप्रेस में देर रात डकैती

दानापुर से भागलपुर आ रही इंटरसिटी एक्‍सप्रेस (गाड़ी संख्‍या: 03402) में मंगलवार की रात ऋषिकुंड हॉल्ट के पास डेढ़ दर्जन अपराधियों ने डकैती की। डकैतों ने कोच संख्या डी-छह और डी-आठ के यात्रियों से सेलफोन, नकदी व आभूषण लूट लिए। लूटपाट होते देख कुछ यात्रियों ने शोर मचाना शुरू कर दिया। यात्रियों के अनुसार शोर सुनकर ट्रेन में मौजूद पुलिस एस्‍कॉर्ट पार्टी कुछ विलंब से पहुंची। हालांकि, पुलिस के पहुंचने पर अपराधी ट्रेन से उतर गए। अपराधियों ने हाल्‍ट पर ट्रेन को चेन पुलिंग कर रोक दिया था। पुलिस को देखते ही अपराधी भाग निकले।

भागते अपराधियों ने ट्रेन पर कर दिया पथराव, कई जख्‍मी

इसी दौरान ट्रेन खुल गई। तब अपराधियों ने वहां पहले से मौजूद अपने अन्‍य सहयोगियों के साथ ट्रेन पर पथराव शुरू कर दिया। इसमें करीब एक दर्जन यात्रियों को चोटें आईं। दो पुलिसकर्मी भी जख्मी हुए। चार यात्रियों को गंभीर चोट लगने की सूचना मिली है। घटना के दौरान ट्रेन के एसी कोच के शीशे टूट गए। पथराव के कारण ट्रेन में भगदड़ जैसी स्थिति हो गई। यात्री सीटों के नीचे दुबक गए। सकेंड क्‍लास के यात्री फटाफट खिड़कियां बंद करने लगे। महिलाएं चिल्लाने लगीं। इस दौरान कोई बचाव के लिए नहीं आया।

बरियारपुर स्‍टेशन पर हंगामा, आाधे घंटे तक रुकी ट्रेन

इस बीच ट्रेन रात्रि करीब 9.15 बजे बरियारपुर स्टेशन पहुंची। वहां यात्रियों ने हंगामा कर दिया। स्टेशन पर आरपीएफ के जवान होने के बाद भी 20 मिनट तक जवानों को भी यात्रियों के पास जाने की हिम्मत नहीं हुई। ट्रेन करीब आधे घंटे तक बरियारपुर स्टेशन पर रुकी रही। वहां दो जख्मी यात्री उतरे।

सुल्‍तानगंज स्‍टेशन पर घटना की एफआइआर दर्ज

ट्रेन में यात्रियों के साथ डकैत करीब 20 मिनट तक लूटपाट करते रहे। यात्री चीखते-चिल्लाते रहे। घटना के बाद लोग काफी डरे सहमे रहे। यात्रियों का कहना था रेल पुलिस और आरपीएफ किसी काम के नहीं हैं। बार-बार सूचना देने के बाद भी कोई मदद को समय पर नहीं पहुंचा। यात्रियाें का कहना था कि ट्रेन की एस्कार्ट पार्टी भी समय रहते मौके पर नहीं पहुंची। यात्रियों ने सुल्तानगंज स्टेशन पर घटना की एफआइआर दर्ज की।

जमालपुर व सुल्‍तानगंज के बीच पहले भी कई बार लूटपाट

बताया जा रहा है कि अपराधियों ने दानापुर-भागलपुर इंटरसिटी एक्‍सप्रेस में बड़ी घटना को अंजाम देने की योजना बनाई थी, लेकिन उनके मंसूबे पर पानी फिर गया। इसके गुस्‍से में उन्‍होंने ट्रेन पर पथराव करना शुरू कर दिया। यात्रियों की मानें तो अपराधी जमालपुर या रतनपुर स्टेशन पर सवार हुए थे। जमालपुर से सुल्तानगंज के बीच अपराधी कई बार लूटपाट की घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं।

एसी कोच के दरवाजे बंद रहने के कारण लूट से बचे यात्री

ऋषिकुंड हॉल्ट पर जब अपराधी जनरल कोच में उत्पात मचा रहे थे, उस दौरान उनके आधा दर्जन साथी एसी कोच की ओर भी बढ़े। उनकी एसी कोच में लूटपाट की योजना थी, लेकिन कोच के सभी गेट बंद रहने के कारण वे चढ़ नहीं सके। इससे गुस्साए अपराधियों ने खासकर एसी कोच पर पथराव किया।

अपराधियों के डर से पहले ही उतरे भागलपुर के कई यात्री

रात करीब 10.35 बजे ट्रेन भागलपुर स्टेशन पहुंची। ट्रेन में भागलपुर के ही सबसे ज्यादा यात्री सवार थे। हालांकि, अपराधियों के डर से भागलपुर के कई यात्री बरियारपुर में ही ट्रेन से उतर गए।

गंभीर रूप से घायल और लूट के शिकार कुछ यात्री व पुलिसकर्मी

  • रितेश राज (जख्मी): मोबाइल छीना (सुल्तानगंज)
  • कृष्णा कुमार (जख्मी): मोबाइल छीना (सुल्तानगंज)
  • राहुल कुमार: मोबाइल छीना (सुल्तानगंज)
  • विंदवासिनी देवी : सोने की चेन छीनी
  • रोहित कुमार (जख्‍मी, सिर फटा): (सुल्तानगंज)
  • पुलिस एस्‍कॉर्ट पार्टी के दो जवान (जख्‍मी)

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप