भागलपुर [रजनीश]। भारतीय रेल भी अब डिजिटल इंडिया की राह पकड़ ली है। रेलवे अब पेंट्रीकार को भी कैशलेस बनाने की कवायद शुरू कर दी है। पहले फेज में इसकी शुरुआत मालदा मंडल की महत्वपूर्ण ट्रेन विक्रमशिला एक्सप्रेस से होगी। विक्रमशिला एक्सप्रेस में सफर करने वाले यात्री अब चाय, नाश्ता और भोजन का भुगतान कार्ड से करेंगे। इसके लिए पेंट्रीकार कर्मियों को प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) मशीन से लैस किया जाएगा। सिस्टम लागू होने के बाद न सिर्फ कर्मियों की मनमानी पर अंकुश लगेगा बल्कि यात्री खुदरा को लेकर होने वाले चकचक से बचेंगे। रेलवे की अधिकृत कंपनी आइआरसीटीसी ने इस दिशा में काम करना शुरू कर दिया है। दरअसल, रेलवे बोर्ड को पेंट्रीकार कर्मियों द्वारा ज्यादा राशि वसूल किए जाने की शिकायत मिली है। इस पर अंकुश लगाने के लिए पेंट्रीकार कर्मियों को पीओएस मशीन उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है।

मंडल की पांच ट्रेनों में है पेंट्रीकार

मालदा मंडल की पांच ट्रेनें विक्रमशिला एक्सप्रेस, सूरत एक्सप्रेस, अमरनाथ एक्सप्रेस, फरक्का एक्सप्रेस और अंग एक्सप्रेस में पेंट्रीकार है। पहले चरण में इस योजना की शुरुआत विक्रमशिला एक्सप्रेस से करने की तैयारी है। इसके बाद धीरे-धीरे दूसरी ट्रेनों में भी लागू कर दिया जाएगा।

प्रिंट दर पर लेना होना होगा भुगतान

यात्रियों से खाने का ऑर्डर लेने के लिए वेंडर आते है। खाना देने के बाद चार्ज मनमाने तरीके से लेते है। यात्रियों को भी मजबूरी में अतिरिक्त पैसा देना पड़ता है, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। पीओएस मशीन आने से जितना रेट खाने और पीने का सामान मिलता है, उतना ही पेमेंट करना होगा। वहीं, खुदरा पैसा को लेकर किचकिच भी नहीं होगी।

संजीव कुमार (आइआरसीटीसी, पूर्वी जोन क्षेत्र) पेंट्रीकर्मी के पास पीओएस मशीन जल्द उपलब्ध कराई जाएगी। यह सिस्टम लागू किया जाना है। इससे किसी तरह का अतिरिक्त चार्ज नहीं देना होगा।

 

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस