भागलपुर, जेएनएन। अनलॉक-एक में ट्रेन का सफर यादगार होगा। आज से यात्री नए नियमों के साथ स्पेशल ट्रेन की सवारी करेंगे। कोरोना महामारी के बीच ट्रेन परिचालन को लेकर रेलवे ने पूरी तरह से सतर्कता बरती है। ट्रेन के निर्धारित समय से डेढ़ घंटे पहले यात्रियों को जंक्शन पहुंचना होगा। कतारबद्ध होकर यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। इसके बाद सीधा यात्री वेटिंग हॉल जाएंगे। ट्रेन के आगमन से 10 से 15 मिनट पहले यात्री प्लेटफॉर्म पर बने घेरे में खड़ा होंगे। डिस्प्ले बोर्ड में संबंधित कोच की जानकारी मिलेगी। इसके बाद यात्री कोच में प्रवेश करेंगे। नए नियम को सख्ती से लागू करने के लिए मंगलवार को आरपीएफ इंस्पेक्टर अनिल कुमार सिंह और जीआरपी थानाध्यक्ष अरविंद कुमार जवानों को कई दिशा-निर्देश दिए। उलटा पुल से उतरकर स्टेशन प्रवेश करने वाले मुख्य गेट पर जवान तैनात रहेंगे। पोर्टिकों में थर्मल स्क्रीनिंग और टिकट जांच की व्यवस्था की गई है। दरअसल, भागलपुर से ब्रह्मापुत्र मेल स्पेशल बनकर गुजरेगी। स्पेशल ट्रेन 05955/05956 का समय ब्रह्मापुत्र मेल का समय है।

सामान को किया जाएगा सैनिटाइज

स्टेशन परिसर से कोच तक यात्रियों को सामान खुद ले जाना होगा। कुली नहीं मिलेंगे। रेलवे ने नए नियम में अभी कुली को अलग रखा गया है। यात्रियों के सामानों को सैनिटाइज किया जाएगा। पैसेंजर को मास्क पहनना होगा और मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप सक्रिय रखना होगा।

स्वजन प्रवेश द्वार से बाहर रहेंगे

ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों की ही स्टेशन परिसर में एंट्री होगी। साथ में स्टेशन आने वाले स्वजन को स्टेशन प्रवेश द्वार से बाहर ही रहना होगा। सफर करने वालों को कंबल चादर नहीं मिलेंगे। उन्हें खुद लाना होगा।

22 मार्च से बंद था यात्री ट्रेनों का परिचालन

कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए केंद्र सरकार के आदेश के बाद रेलवे ने 22 मार्च से यात्री ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया था। गुड्स, पार्सल और श्रमिक ट्रेनें चलाई जा रही थी। आरपीएफ इंस्पेक्टर अनिल कुमार सिंह ने बताया कि रेलवे के नियमों को पूरी तरह सख्ती से पालन किया जाएगा। किसी तरह की लापरवाही नहीं चलेगी।  

घर से लेकर आना होगा भोजन

वेटिंग टिकट वाले ट्रेन पर नहीं चढ़ सकेंगे। रास्ते में खाने-पीने का कोई सामान नहीं मिलेगा। इसलिए घर से ही अपने खाने-पीने का सामान लेकर आना होगा। कंफर्म टिकट वाले यदि यात्रा से पहले टिकट रद कराते हैं तो उन्हें रिफंड के लिए टीडीआर फाइल करना होगा। 10 दिनों में खाते में रिफंड आएगा। 

परिचालन, वाणिज्य, आरपीएफ और अन्य विभागों को विशेष निर्देश दिया गया है। किसी तरह की लापरवाही नहीं बरती जाएगी। कोरोना को लेकर रेलवे पूरी तरह अलर्ट है। नए नियम का सख्ती से पालन किया जाएगा। -यतेंद्र कुमार, डीआरएम, मालदा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस