बांका, जेएनएन। चांदन थाना क्षेत्र के सिलजोरी पंचायत के कसई गांव में दहेज के कारण ससुरालवालों ने गर्भवती ममता देवी की हत्या कर शव को जला दिया। घटना के बाद घर के सभी सदस्य फरार हो गए। इस संदर्भ में मृतका ममता की मां देवघर जिले के बसमत्ता गांव की कैली देवी ने पुलिस से बताया कि ममता की शादी तीन साल पूर्व कसई गांव निवासी पप्पू यादव के साथ हुई थी। वह चार महीने की गर्भवती थी। पति और ससुराल वाले बराबर उससे दहेज के रूप में एक लाख रुपये और बाइक की मांग करते थे।

दहेज नहीं देने पर ममता के साथ मारपीट की जाती थी। रविवार को दामाद घर आया था। इस क्रम में नकद दस हजार रुपये देकर बेटी को मंगलवार शाम विदा किया था। दूसरे ही दिन बुधवार को बेटी को जलाकर मार डाला। इसके बाद बगल के पदनबेड़ा जंगल में शव को जला दिया। स्थानीय लोग ममता द्वारा खुदकशी करने की बात बता रहे हैं।

घटना की सूचना मायके को नहीं दी गई। लड़की की मां ने पति सहित नौ के खिलाफ हत्या करने का मामला दर्ज कराया है। आरोपितों में पप्पू यादव, सन्तु यादव, दिनेश यादव, कौशल्या देवी, अनिल यादव, मैना देवी, कुन्दन कुमार, पिंकी देवी एवं एक अन्य शामिल है। थानाध्यक्ष नीरज तिवारी ने बताया कि दहेज हत्या का मामला दर्ज किया गया है। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस