भागलपुर [जेएनएन]। बबरगंज के कुतुबगंज पासी टोला में रविवार की देर रात शराबी को पकडऩे गई पुलिस पर स्थानीय शराब तस्करों ने हमला बोल दिया। इसमें बबरगंज चौकी के दारोगा सुरेंद्र चौधरी समेत अन्य सिपाहियों को चोटें आई हैं। आरोपितों ने सिपाहियों की राइफल छीनने का भी प्रयास किया। पुलिस ने किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई। इस मामले में बबरगंज पुलिस ने दारोगा के बयान पर 25 नामजद और 50 अज्ञात के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है।

लोगों ने छोडऩे का दबाव बनाते हुए शुरू किया हंगामा

बबरगंज इंचार्ज पवन कुमार सिंह को सूचना मिली कि जमीन का कारोबार करने वाला रतन चौधरी शराब पीकर हंगामा कर रहा है। उन्होंने दारोगा सुरेंद्र को दलबल के साथ मौके पर भेजा। हंगामा करते हुए रतन को पुलिस ने नशे में गिरफ्तार कर अपनी गाड़ी में बैठा लिया। यह देख उसके समर्थन में आसपास शराब का कारोबार करने वाले कई लोग पहुंच गए। वे लोग पुलिस पर रतन को छोडऩे का दबाव बनाने लगे। जब पुलिस ने उसे छोडऩे से इंकार किया तो कुछ लोग पुलिस गाड़ी को घेरकर खड़े हो गए।

दारोगा के बचाव में आए सिपाहियों के साथ मारपीट

जब सिपाहियों ने गाड़ी के सामने से लोगों का हटाना चाहा तो उन्होंने सिपाही के साथ मारपीट शुरू कर दी। यह देख दारोगा ने जब सख्ती की तो कुछ शराब तस्करों ने भीड़ का फायदा उठाकर उन्हें पीट दिया। बीच बचाव में आए अन्य सिपाहियों की भी राइफल छीनने का प्रयास करते हुए आरोपितों ने उनकी भी पिटाई कर दी। बवाल के बीच ही रतन के कुछ साथी व शराब तस्कर उसे पुलिस की गिरफ्त से छुड़ाकर भाग निकले।

जब भारी संख्या में पहुंची फोर्स तो भागे आरोपित

दारोगा किसी तरह जान बचाकर पुलिस चौकी पहुंचे। उन्होंने इंचार्ज को घटना की सारी जानकारी दी। उन्होंने मामले की जानकारी एसएसपी आशीष भारती, सिटी एसपी सुशांत कुमार सरोज, सिटी डीएसपी राजवंश सिंह समेत अन्य को दी। मामले की जांच के लिए सिटी डीएसपी मौके पर पहुंचे। जानकारी होने पर जब पुलिस भारी संख्या में फोर्स के साथ रतन समेत अन्य आरोपितों को ढूंढने निकली तो सभी घर से फरार मिले। पुलिस ने कई आरोपितों को चिन्हित कर लिया है। साथ ही अन्य की पहचान की जा रही है।

एसएसपी आशीष भारती ने कहा कि बबरगंज में पुलिस टीम पर हमला करने वाले आरोपितों के विरूद्ध नामजद और अज्ञात पर मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले में जो भी आरोपित हैं, उनके विरद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई होगी। शराब तस्करों के विरुद्ध विशेष अभियान चलाया जाएगा।

पूर्व में हुए हमले

दो अगस्त : करोड़ी बाजार में शराब की सूचना पर हबीबपुर पुलिस करोड़ी बाजार पहुंची थी। शराब तस्करों ने छापेमारी का विरोध करते पुलिस पर पथराव कर दिया। इसमें तत्कालीन इंस्पेक्टर इंद्रजीत बैठा समेत कई जवान को गंभीर चोट आई थी।

दो जनवरी : नाथनगर के टमटम चौक पर शराब के नशे में हंगामा कर रहे एक व्यक्ति को पुलिस ने जब गिरफ्तार किया तो उसने पुलिस को पीट दिया था। लेकिन सख्ती के बाद उसे गिरफ्तार किया गया। उसकी पहचान अकबरनगर निवासी राजा के रूप में हुई थी।

Posted By: Dilip Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप