संवाद सहयोगी, भागलपुर। जिले के सबौर में अपराधियों ने पिकअप वैन चालक को गोलियों से भून दिया। बीते सोमवार की रात 12 बजे के आसपास सबौर में हुई इस वारदात के बाद से इलाके में सनसनी का माहौल है। दूसरी तरफ, पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल उठ रहे हैं। वारदात को अंजाम देने के बाद अपराधी जहां फरार हो निकले। वहीं, ऐसा कहा जा रहा है कि मृतक पिकअप वैन चालक 6 घंटे तक तड़पता रहा लेकिन पुलिस प्रशासन नदारद रहा।

मामला सबौर थाना क्षेत्र के ममलखा के पास एनएच 80 का है। यहां बेखौफ अपराधियों ने बीती रात पिकअप चालक की गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक की पहचान नालंदा जिला अंतर्गत छबिलापुर थाना के ननसूदबिघा गांव निवासी रामबली यादव का पुत्र राहुल कुमार (24) के रूप में हुई है। राहुल अपना वाहन लेकर नालंदा के बिहारशरीफ से आम लोड करने कहलगांव शिवनारायणपुर जा रहा था। मलखान के पास अपराधियों ने चालक के साथ लूटपाट करने का प्रयास किया लेकिन मोटी राशि नहीं मिलने के बाद नाराज अपराधियों ने गोली मार दी। गोली लगने के बाद भी चालक गाड़ी चलाते हुए ममलखा से शंकरपुर तक गया। उसके बाद रात्रि का समय होने के कारण किसी प्रकार का सपोर्ट नहीं मिल सका और उसकी मौत हो गई।

सबौर थानेदार सुनील कुमार झा ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर स्थानीय अपराधियों पर दबिश दी जा रही है दो तीन लोगों को पूछताछ के लिए लाया गया है। उन्होंने बताया कि प्रथम दृष्टया लूटपाट और हत्या का लग रहा है। मृतक के पिता ने बताया कि पांच सौ रुपये रोज पर दिव्यांग पुत्र ड्राइवरी करता था। उसे छ माह की एक बेटी है, उसके मरने से दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है।

अपराधियों द्वारा गोली मारकर हुई हत्या से आसपास के ग्रामीण हतप्रभ हैं और चारों ओर भय का वातावरण बना हुआ है। हालांकि परिचालन सामान्य स्थिति में हो रहा है। इससे पहले भी एनएच में कई बार चालकों के साथ मारपीट और छीनतई की घटना होते रही है। ऐसी अप्रत्याशित घटना से पुलिस प्रशासन द्वारा सुरक्षा मुहैया कराने पर सवाल उठ रहे हैं। शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया है। 

Edited By: Dilip Kumar Shukla