भागलपुर। हैदराबाद में महिला पशु चिकित्सक से सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या के चार आरोपितों की पुलिस से मुठभेड़ में मौत पर लोगों ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि दरिदों को खुद व खुद सजा मिल गई। वे अपनी फितरत से बाज नहीं आए और पुलिस पर ही हमला कर दिया, मारे गए।

चारों ने पुलिस हिरासत से भागने का न सिर्फ प्रयास किया, बल्कि उस पर हमला भी किया, जिस दौरान हुई मुठभेड़ में चारों मारे गए। कई लोगों ने इस पर सवाल भी उठाए हैं, लेकिन अधिसंख्य लोगों ने कहा कि पीड़िता की आत्मा को शांति मिली होगी। वहीं, महिलाओं की सुरक्षा और छेड़खानी व दुष्कर्म जैसी वारदातों पर रोक के लिए सख्त कानून बनाए जाने की भी मांग उठी। छात्राओं ने इस कार्रवाई की प्रशंसा की है।

---------------------

हैदराबाद में एक महिला पशु चिकित्सक के साथ हुई हैवानियत मानवता को कलंकित करने वाली थी। आरोपितों को एनकाउंटर में पुलिस द्वारा मार गिराया जाना प्रशंसनीय है।

डॉ. अर्चना ठाकुर, प्राचार्य एसएम कॉलेज, भागलपुर।

-------------------

एनकाउंटर में कुकर्मियों के मारे जाने से महिलाओं के विरुद्ध हो रही जघन्य घटना पर विराम लगेगा। आरोपितों के विरुद्ध पुलिसिया कार्रवाई बड़ी पहल है।

डॉ. सांत्वना, एमएम कॉलेज, मनोविज्ञान विभाग

-------------------

दुष्कर्म के आरोपित अपनी करनी से मारे गए, बहुत आसान सजा मिली। जिस तरह पीड़िता को तड़पा कर मारा गया था, उसी तरह की सजा मिलनी चाहिए।

डॉ. रीता सिन्हा, एसएम कॉलेज अर्थशास्त्र विभाग

-----------------

दुष्कर्म की बढ़ती घटना से पूरा देश आहत है। इस क्रम में पुलिस द्वारा आरोपितों को मार गिराया जाना साहसिक कदम है। लेकिन इस तरह की कार्रवाई न्यायिक प्रक्रिया से इतर है।

डॉ. सपना, एसएम कॉलेज, मनोविज्ञान विभाग

--------------

बोलीं कॉलेज की छात्राएं

पुलिस में कार्यरत भाइयों ने बहन पर हो रहे अत्याचार पर विराम लगाने के लिए साहसिक कदम उठाया है।

शिवानी, छात्रा एसएम कॉलेज

---------------

दुष्कर्म के आरोपितों के साथ देशभर में हैदराबाद जैसी कार्रवाई होनी चाहिए। तभी महिलाएं सुरक्षित हो सकती है।

करिश्मा, छात्रा एसएम कॉलेज

-----------------

रोज इस तरह की जघन्य घटनाएं हो रही हैं। हैदराबाद में जो पुलिसिया कार्रवाई हुई, वह काबिले तारीफ है।

संपूर्णा, छात्रा, एसएम कॉलेज

--------------

दुष्कर्मियों के मारे जाने की कार्रवाई की प्रशंसा करती हूं। ऐसी कठोर कार्रवाई से ही जघन्य घटनाएं रुकेंगी।

सबाहत फरीदी, छात्रा, एसएम कॉलेज

--------------------

पुलिस ने दुष्कर्मियों को मार गिराकर एक बहन के लिए भाई का फर्ज अदा किया है।

चांदनी परवीन, छात्रा, एसएम कॉलेज

--------------------

ऐसे हैवान मार गिराए जाएंगे तभी दुष्कर्म की घटनाओं पर विराम लगेगा। हैदराबाद में पुलिस की कार्रवाई अच्छी है।

वाजदा, छात्रा, एसएम कॉलेज

---------------------

पीजी महिला छात्रावास में खुशी का माहौल

भागलपुर : तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के पीजी महिला छात्रावास में छात्राओं ने शुक्रवार को एनकाउंटर की घटना पर खुशियां मनाई। एक दूसरे को अबीर गुलाल लगाकर खुशी का इजहार किया।

छात्र निकिता, ज्योति, चांदनी एवं सान्या शिवांगी आदि ने कहा कि दुष्कर्मियों को इसी तरह मार गिराने से महिलाओं के साथ हो रही जघन्य घटनाओं पर विराम लगेगा। एक स्वर में सभी छात्राओं ने पुलिसिया कार्रवाई की तारीफ की। छात्रावास अधीक्षक डॉ. किरण सिंह ने कहा कि सरकार जघन्य घटनाओं पर विराम लगाने के लिए सख्त कानून बनाए, नहीं तो दुष्कर्मी घटना को अंजाम देकर जेल में मौज करते रहेंगे। उन्होंने हैदराबाद में पुलिस की कार्रवाई को सही बताया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस