सुपौल। अब लोगों को आधार कार्ड बनवाने के लिए इधर-उधर नहीं भटकना पड़ेगा। दरअसल सुविधा की दृष्टि से मुख्य डाकघर सुपौल में ही आधार कार्ड बनेगा। इसके लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। मंगलवार की संध्या भारत सरकार के पूर्वी क्षेत्र के डाक महाध्यक्ष अनिल कुमार ने मुख्य डाकघर सुपौल पहुंचकर आधार नामांकन केंद्र का शुभारंभ किया।

मौके पर उन्होंने उपलब्ध कर्मियों से इसके संबंध में जानकारी ली तथा स्वयं मरौना प्रखंड के लक्ष्मीनियां निवासी सियाराम साह का नया आधार कार्ड बनाकर आधार नामांकन केंद्र की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि पांच साल के बच्चे-बच्चियों से लेकर महिला, पुरुष, बुजुर्ग का आधार कार्ड मुख्य डाकघर से बनेगा। साथ-साथ आधार ऑपरेशन का भी काम होगा।

डाकघर के माध्यम से आधार कार्ड बनवाने में लोगों को सहुलियत होगी। पूर्व में बनाए गए आधार कार्ड में भी अगर कोई त्रुटि हो तो उसके सुधार के लिए 25 रुपये का अदा कर के सुधार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बिहार में 587 आधार नामांकन केंद्र का इस महीने के अंत तक शुभारंभ किया जाएगा। जिसमें सुपौल, सहरसा, मधेपुरा सहित अन्य केंद्र हैं।

बता दें कि हजार अपडेशन सेंटर की भी इसी महीने शुरुआत कर दी जाएगी। पासपोर्ट के संबंध में उन्होंने कहा कि अतिरिक्त भवन नहीं रहने के कारण फिलहाल पेंच फंसा हुआ है। विभाग को प्रस्ताव भेजा गया है। ग्राहकों को यह सुविधा देने के लिए डाक विभाग संकल्पित है और इस दिशा में आगे बढ़ कर भूमिका निभा रहा है।

मौके पर डाक अधीक्षक एसएन यादव, सहायक डाक अधीक्षक सुपौल मुकेश कुमार, डाक निरीक्षक रोशन मिश्रा, सहायक डाक अधीक्षक मधेपुरा महेन्द्र प्रसाद मंडल सहित अन्य मौजूद थे। साथ ही उत्कृष्ट कार्य करने वाले कर्मचारी रेखा कुमारी, शाखा डाकपाल खोरमा जनार्दनपुर, शंकुतला देवी शाखा डाकपाल करिहो सुपौल, मु. एनामुल हक शाखा डाकपाल बसखोड़ा जनार्दनपुर, ताराकांत ठाकुर शाखा डाकपाल तेलही बाजार करजाईन एवं शाखा डाकपाल संतोष कुमार वीणा सुपौल को सम्मानित किया गया।

By Jagran