भागलपुर। अब कोरोना मरीजों का इलाज निजी नर्सिग होम में भी होगा। इसके लिए शहर के ग्लोकल हॉस्पिटल और सिटी हॉस्पिटल का चयन किया गया है। मरीजों को इन अस्पतालों में इलाज के एवज में हर रोज 15 से 20 हजार रुपये भरने होंगे। साथ ही दवा और जांच का खर्च भी उन्हें खुद उठाना होगा।

सिविल सर्जन डॉ. विजय कुमार सिंह ने दोनों नर्सिग होम को तैयारी शुरू करने का निर्देश दिया है। दरअसल, जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। जेएलएनएमसीएच के आइसीयू में 44 बेड हैं। सरकारी अस्पतालों में मरीज हर दिन इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हैं। मरीजों की परेशानी को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने निजी नर्सिग होम में भी इलाज कराने का निर्णय लिया।

सिविल सर्जन ने बताया कि सिटी हॉस्पिटल के संचालक ने प्रतिदिन एक मरीज पर 15 हजार रुपये और ग्लोकल हॉस्पिटल ने 22 हजार रुपये खर्च बताया है। साथ ही दवाइयां और जांच का खर्च खुद मरीज को वहन करना होगा। संचालकों ने कहा है कि उनके कर्मचारी कोरोना मरीजों का इलाज नहीं करेंगे। सिटी हॉस्पिटल में 13 और ग्लोकल में 43 बेड की व्यवस्था की गई है। सिविल सर्जन ने कहा कि हॉस्पिटल संचालकों के साथ बैठक हुई। इसमें दोनों अस्पतालों ने सहमति जताई। सीएस ने कहा कि मरीज के आने वाले खर्च की जानकारी स्वास्थ्य विभाग को दी गई है।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस