संसू, तारापुर (मुंगेर)। मुंगेर के तारापुर पुलिस ने सोमवार को कृषि विभाग के फार्म हाउस के पास बने तालाब के पास से बड़ी संख्या में अंग्रेजी शराब बरामद किया है। पुलिस ने अलग-अलग ब्रांड के शराब की 368 बोतलें जब्त की है। इस अवैध धंधे में शामिल किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है, पर पुलिस को कुछ क्लू हाथ लगी है। पुलिस ने पूरे नेटवर्क को ध्वस्त करने का दावा किया है। दरअसल, पुलिस की सख्ती के बाद तस्करों ने भी ट्रेंड बदल दिया है। तस्करों ने कृषि विभाग के तालाब के किनारे से भूमि में लोहे के बाक्स में छिपाकर रखे शराब को बरामद किया। एसडीपीओ पंकज कुमार ने बताया कि शराब छिपाने की सूचना मिली थी। सूचना मिलने के बाद एसडीपीओ के नेतृत्व में प्रभारी थानाध्यक्ष अनिल कुमार सिंह दलबल के साथ पहुंचे। टीम ने भूमि की खुदाई कराई। बरामद शराब को ट्रैक्टर से थाना लाया गया। इस अवैध धंधे में शामिल तस्करों के बारे पता लगाया जा रहा है। इस अभियान में एसआइ जितेंद्र कुमार, एसआइ राजीव कुमार, एएसआइ विनोद कुमार पुलिस की टीम थी।

देखें तस्वीरें

(तहखाने से निकली शराब) 

तहखाना जमीन खोदकर बनाया गया था। तहखाने का लोहा लाट है, जिसमें नीचे उतरने के लिए बकायदा हैंडल लगे हुए हैं। दूर से देखकर कोई इन तहखानों को सीवर का मेनहोल (गटर) ही समझेगा। लेकिन जब तफ्तीश की गई, तो इसी गटरनुमा तहखाने से शराब बरामदगी हुई। जो कई सवाल खड़े कर रहा है।

लोहे का तहखाना 

मिली एक ट्रैक्टर शराब 

कार्टन में शराब

गोशाला से अंग्रेजी शराब बरामद

संवाद सूत्र, मुगेर। मुफस्सिल पुलिस ने पूरवसराय गोशाला में छापेमारी कर 63 बोतल अंग्रेजी शराब बरामद किया। थानाध्यक्ष कौशलेद्र कुमार ने कहा पुलिस सूचना मिली थी कि गोशाला में अवैध रूप से शराब छिपाई गई है। इस मामले मे किसी की गिरफ्तारी नही हुई है। संबधित लोगों पर केस दर्ज कर आगे की कारवाई कि जा रही है।

खड़गपुर के तराई क्षेत्र में फल रहा अवैध कारोबार

सरकार के कड़े रुख अख्तियार करने के बाद एक्शन मोड में पुलिस दिख रही है। धंधेबाज अब भी नए स्टाइल में धंधे का संचालन कर रहे हैं। खासकर खड़गपुर क्षेत्र के नक्सल प्रभावित पहाड़ी के तराई में रहने वाले लोगों द्वारा चोरी-छिपे शराब बनाने का धंधा चल रहा है। आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र में रहने वाले शराब निर्माण से जुड़े लोग अब महिलाओं को इस धंधे में उतार दिया है। जहां शाम ढलते ही महिलाएं थैले में शराब लेकर हवेली खड़गपुर क्षेत्र के हाट परिसर, कालेज परिसर के पीछे मनी नदी के किनारे स्थित झाड़ियों में बैठकर शराब उपलब्ध करा देते हैं। महिला होने के कारण लोगों को शक नहीं होता है।

Edited By: Shivam Bajpai

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट