बांका [बिजेंद्र कुमार राजबंधु]। बिहार के बांका जिले की बहुप्रतीक्षित मांगों में शामिल मंदार महोत्सव सह बौंसी मेले को राज्य सरकार ने राजकीय मेले का दर्जा प्रदान कर दिया है। रविवार को मेले के उद्घाटन मंच से भूमि सुधार एवं राजस्व मंत्री रामनारायण मंडल ने जब इसकी जानकारी दी तो हजारों हाथों ने करतल ध्वनि से इसका स्वागत किया।

मंत्री ने कहा कि मेला प्राधिकार का गठन कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इसकी स्वीकृति दिलाई गई है। उनके प्रयास से मंदार महोत्सव सह बौंसी मेले को राज्य सरकार ने राजकीय मेले का दर्जा दे दिया है। अगले साल से मेले का स्वरूप और वृहद होगा।

उन्होंने कहा कि मेला परिसर में 170 करोड़ की लागत मीना बाजार और कृषि प्रदर्शनी का निर्माण कराया जा रहा है। बिहार को विकसित श्रेणी में ले जाने का प्रयास केंद्र व राज्य सरकार मिलकर रही है। मंत्री ने बक्सर में मुख्यमंत्री के काफिले पर हुए हमले की निंदा करते हुए कहा कि अब बिहार में किसी की गुंडई नहीं चलेगी। उन्होंने बांका में एक और सर्किट हाउस के निर्माण की घोषणा करते हुए बताया कि जल-संसाधन विभाग से इसकी स्वीकृति मिल चुकी है। 77 करोड़ की लागत से अगले महीने यहां इंजीनियरिंग कॉलेज का शिलान्यास किया जाएगा। बिहार को समृद्ध बनाने के लिए केंद्र व राज्य सरकार पैसों की कमी नहीं होने देगी।

इसके पूर्व राज्य के पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार ने कहा कि 53 करोड़ की राशि से मंदार का विकास किया जाएगा। सभी कार्यों की प्रशासनिक स्वीकृति दिलाई गई है। 30 करोड़ की राशि से कांवरिया पथ विकसित किया जा रहा है। धोरैया स्थित मुगलकालीन ईदगाह का जीर्णोद्धार पर्यटन विभाग कराएगा। निर्धारित समय पर मंदार रोप-वे का निर्माण कर लिया जाएगा। इसका 75 फीसद काम पूरा कर लिया गया है। पर्यटन के क्षेत्र में बिहार का विकास तेजी से रहा है। मंदार को जैन सर्किट से भी जोड़ा जाएगा। राज्य में 200 करोड़ की लागत से रामायण और बौद्ध सर्किट का निर्माण हो रहा है।

पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार ने मंच पर मौजूद जनप्रतिनिधियों के साथ मिलकर सामूहिक रूप से मेले का उद्घाटन किया। समारोह में बेलहर विधायक गिरिधारी यादव ने बदुआ, विलासी व बेलहरना डैम को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने पर बल दिया। पूर्व मंत्री डॉ. जावेद इकबाल अंसारी ने भी निर्धारित समय पर रोपवे निर्माण पूरा कराने की बात कही।

Posted By: Ravi Ranjan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप