संवाद सहयोगी, किशनगंज। किशनगंज पुलिस भले ही नशे के खिलाफ कितना भी अभियान चलाए, लेकिन युवा पीढ़ी इन दिनों नशे की लत की वजह से चोर बन रहे हैं। ये नशाखोर चोर शहर में बंद पड़े मकान और दुकान की रेकी कर चोरी की वारदातों को अंजाम देकर अपने नशे की पूर्ति कर रहे हैं, जिससे क्षेत्र में चोरी की वारदात अचानक बढ़ गई है। शहरी क्षेत्र में कुछ दिनों में अचानक चोरी जैसी घटनाओं का ग्राफ बढ़ने से टाउन थाना की पुलिस जब सक्रिय हुई तो ऐसे चोरों का गिरोह पकड़ा गया जो अपनी नशे के लत की पूर्ति के लिए चोरी की वारदातों को अंजाम देने का बात बताया।

पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही चोरी की वारदात बाद सदर थानाध्यक्ष ने जब टीम गठन कर जांच पड़ताल शुरू किया तो रुईधासा के समीप से एक चोर हत्थे चढ़ा। इसके बाद एक-एक कर पांच साथी भी पकड़ा गया। जिसमें दो चोर नाबालिग निकला। गिरफ्तार चोर मु. मोहसिन उम्र, मसूद आलम, दोनों रुईधासा निवासी व मोहम्मद चुन्ना व मोहम्मद शमशाद आलम दोनों खनका गुल बस्ती वार्ड 16 के निवासी को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार चोरों से पुलिस पूछताछ कर रही हैं।

चोरी की घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए एसपी डा. इनामुल हक मेंगनू ने शनिवार को स्वयं टाउन थाना पहुंचे और पकड़े गए युवा चोरों से पूछताछ की। यह पड़ताल की गई कि वे किन कारणों से इस प्रकार की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। एसपी ने बताया जब इन चोरों से पूछताछ की तो पता चला कि सभी चोर नशे की पूर्ति करने के लिए चोरी की घटना को अंजाम दे रहे थे।

उन्होंने बताया कि वे चाहते हैं कि इस प्रकार की घटनाओं को रोकने के लिए जागरूक भी होना पड़ेगा। ये सभी कम उम्र के युवा हैं। इसके लिए इन युवकों की काउंसिलिंग भी कराई जा रही है। वहीं चोरी गए सामानों में कुछ सामान भी बरामद किए गए हैं जिसमें हाथ का बलीया, सोने का कान का कनौसी, सोने का नाक का नथ ,चांदी का सिकरी, चांदी का बच्चे के हाथ का बाली, चांदी का दो पायल, चांदी का दो घड़ी जैसा, चांदी का हनुमानजी का लाकेट लगा सिकरी बरामद किया गया है।

नशा के दलदल में फंस रहा युवा वर्ग:::

किशनगंज में नशा एक ऐसी बीमारी बन गई है जिस दलदल में युवा फंसते जा रहा है। शहर में लगातार ऐसे मामले सामने आ रहे हैं जिसमें युवा पहले नशे की लत में फंस जाते है फिर बाद में अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए नशे की तस्करी में ही शामिल हो जाते हैं। फिर छोटी उम्र में नशे की लत को पूरा करने के लिए पैसों की चाहत में आपराधिक वारदात को अंजाम देने लगता है। पुलिस ने खुलासा करते हुए बताया है कि आरोपियों ने नशे की पूर्ति के लिए चोरी का रास्ता अपना लिया है। क्योंकि नशा करने के लिए पैसों की जरूरत ने इनको अपराध के रास्ते में धकेल दिया।

सामाजिक लोगों के सहयोग से चलाया जाएगा जागरूकता अभियान:::

युवाओं को नशे के लत से दूर करने के लिए पुलिस सामाजिक लोगों के सहयोग से जागरूकता अभियान चलाने की योजना बना री है। एसपी ने बताया कि पकड़े गए सभी चोर पेशावर नहीं है जो नशा के लत के लिए चोरी कर रहा है। पकड़े गए नाबालिगों के विरुद्ध कोई कांड दर्ज नहीं किया जा रहा है। उसे बाल गृह भेजकर कांउसलिंग कराया जाएगा। बताया कि थाना के पुलिस अधिकारियों को कुछ एरिया बांट लेने को कहा जहां नशे के लत युवा वर्ग की शिकायत मिल रही है। वहां के स्थानीय समाजसेवी, धर्म गुरुओं का सहयोग लेकर चिन्हित किया जाए जिसे किसी जगह पर एकत्रित कर काउंसलिंग कर सके। ताकि वह सही राह पर चल सके।

Edited By: Abhishek Kumar