जागरण संवाददाता, जमुई। देहरादून से हावड़ा जा रही डाउन स्पेशल उपासना एक्सप्रेस ट्रेन के मोकामा स्टेशन से खुलते ही बदमाशों ने गुरुवार की शाम अंधाधुंध फायरिंग कर दी। इसमें ट्रेन पर सवार जमुई जिले के झाझा निवासी एक रेलकर्मी यात्री नवल किशोर गोली लगने से जख्मी हो गए। बदमाश गोलीबारी करके मोकामा स्टेशन पर ही आराम से भाग निकला। ट्रेन के किऊल स्टेशन पहुंचने पर जख्मी रेलकर्मी (गार्ड) का इलाज रेलवे अस्पताल किऊल में मेडिकल अफसर डॉ आलोक कुमार ने किया। गोली गार्ड नवल किशोर के दाहिना कांख के नीचे लगी जो खतरे से बाहर है।

जख्मी नवल किशोर ने बताया उपासना एक्सप्रेस ट्रेन से वे पटना से झाझा लौट रहे थे। ट्रेन में काफी भीड़ रहने के कारण वे दिव्यांग बोगी में बैठे थे। उसी बोगी में बिहार पुलिस के कुछ जवान बेउर जेल से कुणाल शर्मा नामक एक कैदी को लेकर जा रहे थे। कुणाल शर्मा को पेशी के लिए पुलिस सियालदह ले जा रही थी। ट्रेन जब मोकामा स्टेशन से खुलने लगी तो एक बदमाश ने बोगी में बैठे कैदी कुणाल शर्मा को टारगेट कर गोलीबारी कर दी। गोली कुणाल शर्मा के बदले उसके बगल में बैठे नवल किशोर के दाहिने कांख के नीचे छूते हुए निकल गई। रेलकर्मी के अनुसार गोली चलाने वाला व्यक्ति स्टेशन पर ही भाग गया तब तक ट्रेन खुल चुकी थी। जख्मी का इलाज कर रहे डॉ आलोक ने बताया कि जख्मी का इलाज कर दिया गया है। वह खतरे से बाहर हैं। 

राजस्थान का रहने वाला है कुणाल शर्मा

साइबर क्राइम मामले में पटना के बेउर जेल में बंद कुणाल शर्मा राजस्थान के दौसा का रहने वाला है। कुणाल शर्मा को मारने के लिए अपराधियों ने ट्रेन में फायरिंग की थी। कुणाल शर्मा राजस्थान के दौसा के पूर्व बीजेपी विधायक का बेटा है जो साइबर क्राइम के मामले में बेउर जेल में बंद है। कुणाल शर्मा ने बताया कि बेउर जेल में बंद सोना लूट का आरोपित सुबोध सिंह ने उससे जेल में रंगदारी की मांग की थी। रंगदारी नहीं देने पर उसको जान से मारने की धमकी सुबोध सिंह ने दी थी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021