संवाद सूत्र, बरियारपुर (मुंगेर)। भागलपुर-जमालपुर रेल सेक्शन के बीच स्थित कल्याणपुर स्टेशन पर भागलपुर दानापुर इंटरसिटी के ठहराव को लेकर ग्रामीणों ने आंदोलन का निर्णय लिया। बुधवार को करहरिया पश्चिमी पंचायत के मुखिया सुनील सोलंकी के नेतृत्व में कल्याणपुर रेलवे स्टेशन पास ग्रामीणों ने बैठक की। शामिल लोगों ने आंदोलन के पूर्व विभिन्न गांव में लोगों के साथ बैठक कर इस मांग के पूर्ति के लिए व्यापक आंदोलन चलाने पर विचार विमर्श करने का निर्णय लिया गया। ग्रामीणों ने कहा कि कल्याणपुर रेलवे स्टेशन खडिय़ा से लेकर महदेवा तक के लगभग एक दर्जन गांव के लिए काफी उपयोगी स्टेशन है ।पूर्व में भागलपुर-दानापुर इंटरसिटी एक्सप्रेस का ठहराव होने से यहां के लोगों को राजधानी पटना जाने में किसी प्रकार की समस्या नहीं होती थी । सुबह में लोग इंटरसिटी ट्रेन से पटना चले जाते थे तथा दिनभर पटना में काम कर रात में वापस लौट आते थे। लेकिन, रेलवे की मनमानी के कारण इस ट्रेन का ठहराव बिना किसी उचित कारण के हटा दिया गया है।

प्वाइंटर्स

-01 वर्ष से लगभग नहीं है ट्रेन का ठहराव

-01 दर्जन गांव से लोग पहुंचते हैं स्टेशन

-15 किमी दूर जाने में हो रही परेशानी

कई गांव की बड़ी आबादी को हो रही परेशानी

स्टेशन से हर दिन सौ से डेढ़ सौ यात्री पटना तथा विभिन्न बड़े स्टेशनों पर पहुंचने के लिए इंटरसिटी से सफर करते थे। अभी लोगों को काफी परेशानी होती है। रात में बरियारपुर में उतरने पर लगभग 15 किलोमीटर दूरी खडिय़ा जाने में लोगों को पसीने उतर जाते हैं। पैदल ही लोगों को रात में जाना पड़ता है। ग्रामीणों की समस्याओं के निदान के लिए हमलोगों ने रेलवे के खिलाफ आंदोलन का निर्णय लिया है। इसके तहत कई दिनों तक गांव में आंदोलन की रूपरेखा तैयार करने का काम किया जाए जिससे रेलवे को बाध्य होकर इस ट्रेन का ठहराव इस स्टेशन पर देना पड़े। बैठक में कौशल किशोर ङ्क्षसह ,दिलीप मंडल बुधन ङ्क्षसह, विमल मंडल, सरवन यादव ,शंकर मंडल, जूलो मंडल, अनुज ङ्क्षसह सहित दर्जनों ग्रामीण थे।  

Edited By: Abhishek Kumar