जागरण संवाददाता, किशनगंज। किशनगंज जिले के ठाकुरगंज प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत दूधोंटी पंचायत के मन्ना टोला में रिश्ते को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। बेटे ने बुधवार की रात सुप्तावस्था में धारदार हथियार से वार कर माता और पिता की हत्या कर दी। घटना से इलाके में दहशत माहौल व्याप्त है। घटना को अंजाम देकर बेटा घर से फरार हो गया था। घटना की जानकारी पर ग्रामीणों ने गुरुवार की सुबह हत्यारोपी बेटा को नदी किनारे से पकड़ कर पुलिस के हवाले किया। घटना की जानकारी पर घटनास्थल पर लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने हत्यारोपी बेटे को गिरफ्तार कर मामले की जांच शुरू की है।

घटना के संबंध में बताया जाता है कि हत्यारोपी पुत्र मोहम्मद दिलदार रात में घरेलू विवाद के कारण अपने पिता फजलु रहमान और माता जायना बेगम पर सोए अवस्था में धारदार हथियार से वार कर हत्या कर फरार हो गया। बेटा और पिता के बीच घरेलू विवाद चल रहा था। कुछ माह पहले हत्यारोपी बेटा दिल्ली से काम छोड़ कर घर आया था और यही रह रहा था। पिता भी खेती करते थे जिसमें वे सहयोग करता था।

घटना के समय घर पर हत्यारोपी बेटा के अलावा माता-पिता एवं उसकी एक भाभी थी, लेकिन घटना के संबंध में सोई हुई उसकी भाभी को भनक तक नहीं लगी। सुबह घटना की जानकारी मिली। घटना के संबंध में एसडीपीओ अनवर जावेद अंसारी ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। प्रथम दृष्टया में घरेलू विवाद की बात सामने आ रही है।

आटो से 131 लीटर विदेशी शराब बरामद

कोचाधामन (किशनगंज)। कोचाधामन थाना अध्यक्ष सुमन कुमार सिंह के नेतृत्व में पुलिस ने वाहन चेकिंग के क्रम में कोचाधामन थाना क्षेत्र के रहमतपाड़ा के समीप एक आटो से 131 लीटर विदेशी शराब बरामद किया गया। मामले में पुलिस ने एक शराब तस्कर को भी गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। इस संदर्भ में थानाध्यक्ष ने बताया कि पुलिस अधीक्षक के निर्देशानुसार वाहन चेकिंग के क्रम में रहमतपाड़ा के समीप एक बिना नंबर के आटो से 131 लीटर विदेशी शराब बरामद किया गया है। शराब की खेप आटो में सीट के नीचे तहखाना बनाकर छिपाकर रखा हुआ था। कार्रवाई करते हुए शराब तस्कर मु नोमान ग्राम लमनगर थाना पलासी जिला अररिया को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। शराब की खेप पांजीपाड़ा पश्चिम बंगाल से किशनगंज के रास्ते अररिया ले जाया जा रहा था। वाहन चेकिंग के क्रम में अध्यक्ष सुमन कुमार सिंह के अलावा पुलिस अवर निरीक्षक सुशील कुमार व सशस्त्र बल के सिपाही शामिल थे।

Edited By: Dilip Kumar Shukla