जागरण संवाददाता, भागलपुर। भारतीय सेना के सेवानिवृत्त अफसरों की पहल पर गंगा को निर्मल बनाने के लिए शुरू हुई अतुल्य गंगा परिक्रमा पद यात्रा में शामिल अधिकारियों की सोमवार को प्लस टू हाई स्कूल खेरैहिया में भव्य स्वागत किया। स्कूल की प्राचार्या अनु ज्योति के नेतृत्व में सभी शिक्षकों ने पद यात्रियों का पुष्प बुके देकर अभिनंदन किया। इस मौके पर एडीजे जनरल मेजर इंद्र बालन व ग्रुप कमांडर ब्रिगेडियर मृगेंद्र कुमार सहित शिक्षकों व एनसीसी छात्रों ने स्कूल में पौधरोपण किया। साथ ही कहा कि, गंगा नदी हमारे देश व हमारी संस्कृति की पहचान व अमूल्य धरोहर है।

उन्होंने कहा कि गंगा के दोनों तटों पर पौधारोपण करती हुई गांवों और शहरों से गुजरने वाली भारत की सबसे लम्बी पदयात्रा से देश में गंगा सहित सभी नदियों के लिए व पर्यावरण संरक्षण के लिए एक नई ऊर्जा का संचार होगा। इस गंगा यात्रा से गंगा संरक्षण के प्रति लोगों में जागरूकता व सहभागित भी बढ़ेगी। सभी नदियों की स्वच्छता, उनके अविरल बहाव के साथ पर्यावरण के लिए भी यह यात्रा ऊर्जा भरने का काम करेगी क्योंकि गंगा देश की अमूल्य धरोहर होने के साथ ही भारतीय अध्यात्म और चिंतन की मजबूत आधारशिला भी है। उधर पद यात्रियों का कहना है कि इस यात्रा से लोगों में पर्यावरण के प्रति जागरूकता आएगी। उन्हें नदियों और जल संरक्षण के प्रति भी जागरूक किया जाएगा। इस मौके पर एएनओ सुभाष, प्रणब कुमार, विक्रम कुमार, कुमारी नीतू, कुमारी वीणा , कुमुद सहित अन्य शिक्षक शिक्षकाएं मौजूद थी।

अतुल्य गंगा यात्री सुल्तानगंज रवाना

संसद सदस्य अजय मंडल ने सोमवार सुबह 5:45 बजे अतुल्य गंगा यात्रियों को हरी झंडी दिखाकर सुल्तानगंज के लिए रवाना किया। इसके बाद यात्री बूढ़ानाथ चौक से तिलकामांझी विवि तक पैदल मार्च किया और वहां से सुल्तानगंज के लिए रवाना हो गए। रिटायर्ड फौजी का एक टीम 6200 किमी गंगा परिक्रमा पर पैदल निकला है। अतुल्य गंगा यात्रा में एनसीसी कैडेट, पत्रकार और आमजन हैं। प्रयागराज से यात्रा शुरू होकर गंगा परिक्रमा कर 15 अगस्त को प्रयागराज संपन्न हो जाएगा।

 

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप