भागलपुर [जेएनएन]। रेल पुल-पुलियों पर खतरे के निशान से ऊपर पानी बह रहा है। लगातार हो रही बारिश की वजह से पानी का दबाव काफी बढ़ गया है। सुरक्षित परिचालन को लेकर रेलवे पूरी तरह अलर्ट है। पेट्रोलिंग टीम को पूरी तरह अलर्ट पर रखा गया है। काउंसलिंग लगातार की जा रही है। यह जानकारी मालदा मंडल के डीआरएम तन्नू चंद्रा ने दी। वे सोमवार को अधिकारियों के साथ कल्याणपुर से लैलख तक बाढ़ प्रभावित रेल सेक्शन का निरीक्षण कर रही थीं। डीआरएम रेल पुल पर स्थिति से रूबरू हुए। डीआरएम ने कहा कि रेलवे ट्रैक सुरक्षित है। बाढ़ का पानी का अभी रेलवे ट्रैक खतरा नहीं है। बाढ़ का पानी ट्रैक से दूर है। ट्रेन परिचालन में कोई समस्या नहीं है। रेलवे ट्रैक निगरानी के लिए टीमें पहले से ही तैनात कर दी गई है। सभी 24 घंटे अलग-अलग शिफ्ट में पेट्रोलिंग कर रहे हैं सभी को और सतर्कता बरतने का निर्देश दिया। डीआरएम करीब छह घंटे तक पूरे सेक्शन के बाढ़ प्रभावित इलाकों का निरीक्षण किया। इनके साथ मंडल के अभियंता सहित कई अधिकारी थे।

हर घंटे मूवमेंट का दें रिपोर्ट

प्रभारी डीआरएम ने पेट्रोलिंग और मोबाइल टीम हर घंटे पर पानी की मूवभेंट की खबर अधिकारियों को देने का निर्देश दिया है। वहीं, नाथनगर-बरियारपुर के बीच स्थित रेल पुल-पुलियों पर कॉशन लगा दिया गया है। यहां पैसेंजर से लेकर एक्सप्रेस ट्रेनें 30 से 50 की रफ्तार से पार गुजरेगी। उन्होंने कहा कि सबौर-लैलख-एकचारी सेक्शन का निरीक्षण किया गया। सभी सुरक्षित है। किसी तरह का खतरा नहीं है। टीम पूरी तरह सक्रिय है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप