संवाद सूत्र, धरहरा (मुंगेर)। मुंगेर जिले के नक्सल प्रभावित प्रखंड धरहरा थाना क्षेत्र के माताडीह पंचायत स्थित पहाड़पुर गांव में बदमाशों ने बड़ी घटना को अंजाम दिया है। यहां बदमाशों ने राजा कुमार की गला रेत कर हत्या कर दी है। हत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है। सदर एसडीपीओ नंद जी प्रसाद डाग स्क्वायड की टीम के साथ पहुंचे हैं पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। युवक की मां जन वितरण प्रणाली की डीलर है।

20 अक्टूबर को राजा को मैसूर में रेलवे में योगदान देना था। इससे पहले बदमाशों ने राजा की निर्मम हत्या कर दी। घटना के बाद घर में कोहराम मचा हुआ है। मां और घर वालों का रो-रो कर बुरा हाल है। राजा के पिता  कृष्णा पासवान ने कहा कि वह जन वितरण प्रणाली के गोदाम में सोया हुआ था, शुक्रवार की सुबह जब लोग गोदाम की तरफ गए तो राजा को मृत पाया। इसकी सूचना तत्काल धरहरा थानाध्यक्ष रोहित कुमार सिंह को दी गई। सूचना मिलने के बाद थानाध्यक्ष दलबल के साथ पहुंचे घरवालों और ग्रामीणों से पूछताछ भी की। पुलिस हर एंगल से जांच कर रही है।

कुल्हाड़ी से गला और चेहरे पर कई वार

बदमाशों ने राजा कुमार के गले और चेहरे पर कुल्हाड़ी से कई वार किया है। राजा के गले और चेहरे पर निशान है। पुलिस खोजी कुत्ते के साथ जांच पड़ताल कर रही है अभी तक युवक का शव गोदाम में ही पड़ा हुआ है। पुलिस इस हत्या मामले की जांच हर एंगल से कर रही है। अभी तक जांच में किसी तरह का कोई क्लू नहीं मिला है। पुलिस का दावा है कि इस हत्याकांड का पर्दाफाश जल्द कर दिया जाएगा।

20 को करना था योगदान, बदमाशों ने ले ली जान

राजा कुमार को पांच दिन बाद यानी 20 अक्टूबर को मैसूर में रेलवे में योगदान करना था। दो दिन बाद राजा अपने गांव से मैसूर के लिए रवाना होता, इससे पहले बदमाशों ने दशहरे के दिन राजा की निर्मम तरीके से हत्या कर दी। दो भाइयों में राजा सबसे बड़ा था। राजा का व्यवहार कुशल और मिलनसार था। गांव वालों का कहना है कि राजा को अपने करियर को लेकर काफी चिंता रहती थी रेलवे में नौकरी लगने के बाद घर और पूरे गांव में खुशी का माहौल था। बदमाशों ने एक झटके में पूरी खुशी को गम में बदल दिया।

Edited By: Dilip Kumar Shukla