भागलपुर, जेएनएन। भागलपुर रेलवे यार्ड के इलेक्ट्रिक विभाग में कार्यरत एक कर्मी (एसी हेल्पर) कोरोना संक्रिमत निकला है। गुरुवार की दोपहर कर्मी डियूटी कर रहा था, उसी वक्त फोन से कोरोना पॉजिटिव होने की सूचना मिली। इसके बाद साथ साथ में काम कर रहे साथी सुनकर सत्र रह गए। पहली बार कोई रेलकर्मी भागलपुर में निकला है। इससे पूरे यार्ड में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में इसकी सूचना सीनियर सेक्शन इंजीनियर और मंडल मुख्यालय को दी गई। रेलवे ने एहतियात बरतते हुए विभाग को 13 जुलाई तक बंद कर दिया है। साथ ही सभी कर्मियों को घर से काम करने को कहा गया है। इसके बाद मेडिकल टीम ने पूरे यार्ड और विभाग में सैनिटाइजर का छिड़काव किया। अब  एक-एक कर सभी कर्मियों की कोरोना जांच होगी। डीआरएम यतेंद्र कुमार ने कहा कि रेलवे पूरी तरह सतर्कता बरत रही है। जिन जिन लोगों कर्मी मिला था, सभी की जांच कराई जाएगी। इस मामले में किसी तरह का नया फोन है लापरवाही नहीं बरती जाएगी। इसके लिए निर्देश दिए गए हैं। गुरुवार को भागलपुर में अब तक 63 मरीज कोरोना वायरस से संक्रमित मिले हैं। जिले में अब कोरोना संक्रमितों की संख्‍या आठ सौ के करीब पहुंच गई है। कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जिला प्रशासन ने आज से पुन: लॉकडाउन लगा दिया है।

चेन लंबा होने की संभावना, स्पेशल ट्रेन से पहुंचा था कर्मी

संक्रमित रेल कर्मी मुंगेर का रहने वाला है। गुरुवार को वह जमालपुर से साहिबगंज के बीच चल रही स्टॉफ स्पेशल ट्रेन से भागलपुर जंक्शन उतरा था। जंक्शन उतरने के बाद वह अपने विभाग में पहुंचा था। दो कोच वाली इस ट्रेन में जिस कोच में कर्मी सफर कर रहा था, उस कोच में बैठे सभी कर्मियों की जांच होगी। रेलकर्मी के पॉजिटिव निकलने के बाद कोरोना संक्रमण का चेन लंबा होने की संभावना है। हालांकि, रेलवे सूचना मिलते ही तुरंत अलर्ट हो गया और जांच की कवायद शुरू कर दी

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस