भागलपुर। कोरोना से जंग जीतकर छह मरीज अपने घर पहुंच गए। जवाहर लाल चिकित्सा महाविद्यालय सह अस्पताल (जेएलएनएमसीएच), भागलपुर के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती इन मरीजों को विश्व स्वास्थ्य दिवस पर मंगलवार को डिस्चार्ज कर दिया गया है। रिपोर्ट निगेटिव आने और स्थिति में सुधार होने के बाद इन्हें छुट्टी दी गई। इनमें तीन मुंगेर, एक बेगूसराय और दो सहरसा जिले के निवासी हैं।

डिस्चार्ज करने के समय कोरोना को मात देने वाले मरीजों के सम्मान में चिकित्सकों और स्वास्थ्यकर्मियों ने तालियां भी बजाई। वरीय चिकित्सक सह कोरोना के नोडल पदाधिकारी डॉ. हेमशंकर शर्मा ने कहा कि सभी अभी ये लोग दो सप्ताह तक होम क्वारंटाइन और रहेंगे। डिस्चार्ज स्लिप देने के बाद सभी मरीजों को साफ-सफाई से रहने की सलाह दी गई। कतर से लौटे मुंगेर के चुरंबा निवासी के संपर्क में आने से छह लोग संक्रमित हुए थे। इनमें से दो उस युवक के रिश्तेदार थे। बाकी लोग उस अस्पताल के कर्मी थे, जहां युवक को भर्ती कराया गया था। सभी को 25 मार्च को जेएलएनएमसीएच में भर्ती किया गया था। सभी मरीजों को एक ही वार्ड में रखकर इलाज चल रहा था। इस बीच पांच अप्रैल को इनकी दोनों रिपोर्ट निगेटिव आई। स्वस्थ हुए मरीजों ने भी चिकित्सकों और स्वास्थ्यकर्मियों को धन्यवाद दिया। इन्होंने आमलोगों से अपील की कि कोरोना से डरने के बजाय वे उनसे लड़ें। लोग चिकित्सकों के बताए नियमों का पालन करें। इन्होंने बताया कि इलाज के दौरान उन्हें चिकित्सकों और स्वास्थ्यकर्मियों का भरपूर प्यार मिला। विश्व स्वास्थ्य दिवस पर मिली कामयाबी को चिकित्सक बड़ी उपलब्धि मान रहे हैं। नोडल पदाधिकारी डॉ. हेमशकर शर्मा ने कहा कि एक साथ कोरोना के छह मरीजों का स्वस्थ होना काफी बड़ी जीत है। अस्पताल अधीक्षक डॉ. आरसी मंडल ने सभी डिस्चार्ज मरीजों को शारीरिक दूरी का पालन करने और इनसे घर में रहने की अपील की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस