भागलपुर, जेएनएन। कोरोना वायरस से सुरक्षा को लगाए गए लॉकडाउन में जरूरतमंदों के लिए एक बार फिर न्यायिक पदाधिकारियों ने रोटियां बेली। न्यायिक पदाधिकारियों ने खुद आटा गूंथा, रोटी और पूरी बेली। वेज बिरयानी भी तैयार किया। आलू, परवल, गाजर, बिंस, शिमला मिर्च, प्याज आदि काटे। गैस चूल्हे पर कड़ाही भी खुद चढ़ाई। दोपहर तक सब्जी, पूड़ी, रोटी, वेज बिरयानी का अलग-अलग पैकेट भी तैयार कर लिया। पूड़ी-सब्जी-सलाद का अलग पैकेट, बिरयानी का अलग पैकेट। न्यायिक पदाधिकारियों ने कैरी बैग और बिरयानी के लिए रेडीमेड पैकेट मंगा लिया था।

दोपहर को तैयार भोजन मायागंज अस्पताल में भर्ती कोरोना के संदिग्ध मरीजों, परिजनों और जरूरतमंदों के बीच बांटे गए। जिला विधिक सेवा प्राधिकार की गाड़ी से भोजन के तैयार पैकेट अस्पताल परिसर ले गए और जरूरतमंदों के बीच वितरित किए गए।

बुधवार को भोजन तैयार करते समय न्यायिक पदाधिकारियों ने दूरी बना कर रखी थी। तस्वीर लेते समय न्यायिक पदाधिकारियों ने कहा, इसकी जरूरत तो नहीं है। हम सभी आपस में सहयोग राशि देकर जरूरतमंदों के बीच भोजन वितरित कर रहे हैं। हमारा भी कुछ योगदान होना चाहिए।

प्राधिकार की गाड़ी से पूर्व से ही कोरोना वायरस से सुरक्षा को लेकर लोगों में माइकिंग के जरिए जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। भोजन में न्यायिक परिवार की भागीदारी हो, इसलिए हम सभी आपस में सहयोग कर रहे हैं। भोजन तैयार करने वालों में एडीजे रोहित शंकर, दीपांकर पांडेय, संजय कुमार, प्रीति वर्मा, शरद श्रीवास्तव, अतुल वीर सिंह, एसीजेएम राजीव कुमार मिश्रा, प्रबल दत्ता, रुंपा दत्ता, शैलेंद्र कुमार सिंह, सिविल जज प्रभात कुमार रंजन, शशांक शेखर, प्रशांत कुमार, मुहम्मद इरशाद आलम आदि शामिल थे।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस