भागलपुर, जेएनएन। आगामी विधानसभा की चुनाव की तैयारी में कांग्रेस के पदाधिकारी समेत कार्यकर्ता जुट गए हैं। इस कड़ी में पूर्व के चुनाव में भागलपुर के चुनाव प्रभारी को बदलकर विधायक रामदेव राय को प्रभारी बनाया गया है।

भागलपुर जिला चुनाव प्रभारी को बदलने का निर्णय चार दिन पूर्व पटना में हुई बैठक में लिया गया। बैठक चुनाव अभियान समिति और चुनाव समिति के पदाधिकारियों ने की थी। बैठक में कहलगांव के विधायक के अलावा कई विधायक और पदाधिकारी शामिल थे। 2015 के चुनाव में वीरेंद्र ङ्क्षसह को भागलपुर का प्रभारी बनाया गया था। लेकिन टिकट के भावी उमीदवारों की सूची बनाने को लेकर जिला कोंग्रेस भवन में हुई कोंग्रेसियो की बैठक में एक गुट ने विवाद करते हुए मारपीट की। बैठक स्थगित करनी पड़ी। बैठक में विधायक सदानंद सिंह और अजित शर्मा भी थे। इसलिए इसबार के चुनाव में कॉग्रेस के आला पदाधिकारी कोई रिस्क नहीं लेना चाहते, अत: भागलपुर के प्रभारी बदले गये। सूत्रों ने बताया कि पूर्व चुनाव में जिन विधायक को जिला चुनाव प्रभारी बनाया गया था, उनमें से कई विधायकों को राज्यों के जिलों का प्रभारी नहीं बनाया गया। क्योंकि समिति के पदाधिकारियो को आशंका है कि वो पार्टी भी बदल सकते हैं।

ऑन लाइन सदस्यता अभियान जारी

जिला में ऑन लाइन सदस्यता अभियान जारी है। अभी कोंग्रेसी इस अभियान में जुटे हुए हैं। पहले सदस्यता अभियान में सैकड़ों फर्जी सदस्य बनाये गए थे। इसकी शिकायत होने के बाद भी आला पदाधिकारी कोई कारवाई नहीं कर सके। इसबार जिन लोगों को सदस्य बनाया जाएगा, उनका मोबाइल नंबर और फोटो भी अपलोड करना है। जिला कोंग्रेस के अध्यक्ष सज्जाद अली शाह ने कहा कि सदस्यता अभियान में तेजी लाने के लिये कोंग्रेसियो को निर्देश गया है। साथ ही बूथ स्तर पर कमेटी गठन करने के लिए कहा गया है।

मुख्‍य बातें

- 2015 में विधानसभा चुनाव के प्रभारी के सामने ही बैठक में कांग्रेसियों ने मारपीट की थी

- चुनाव की तैयारी में जुटे भागलपुर के कार्यकर्ता

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस