जागरण टीम, मुंगेर/जमुई। भाजपा से गठबंधन तोड़ने के बाद राजद व कांग्रेस के साथ बिहार में जदयू के सरकार बनाने विरोध में लगातार धरना प्रदर्शन किया जा रहा है। भाजपा कार्यकर्ता राज्‍य में प्रदर्शन कर रहे हैं। मुंगेर में भाजपाइयों ने जिलाध्यक्ष राजेश जैन के नेतृत्व में मुंगेर सदर प्रखंड मुख्यालय में जनादेश से विश्वासघात धरना सभा आयोजित की। राजेश जैन ने कहा कि मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराने के लिए भाजपा से गठबंधन तोड़ लिया। उन्‍होंने आनन-फानन में भाजपा के अपनी दोस्‍त तोड़ी व राजद तथा कांग्रेस के साथ मिलकर बिहार में मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ले ली। साथ ही राजद नेता तेजस्‍वी यादव को उपमुख्‍यमंत्री पद दे दिया।

बिहार भाजपा के प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य सौरभ कुमार ने कहा कि यह समय नीतीश कुमार को कोसने का नहीं है, बल्कि हम भाजपाइयों की अपनी गलती के लिए पश्चाताप करने का है। उन्‍होंने बिहार की जनता से मापी मांगी। कहा कि अब भविष्‍य में कभी नीतीश कुमार से कोई संबंध नहीं रखेंगे। वे भरोसा करने योग्‍य नहीं हैं।

जिलाध्यक्ष राजेश जैन ने बिहार की जनता से माफी मांगते हुए कहा कि हमलोगों से नीतीश कुमार को पहचानने में भूल हो गई। जिस भाजपा और नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता के कारण नीतीश पिछले 17 वर्षों से यहां के मुख्‍यमंत्री रहे। और अब चाचा-भतीजा साथ हो गए। जो चाचा-भतीजा एक-दूसरे को गाली देते थे आज कुर्सी के लिए दोनों ने संधित कर लिया। बिहार की जनता को दोनों ने मुर्ख बनाया है।

धरना का संचालन करते हुए जिला उपाध्यक्ष डॉ रामानंद प्रसाद ने सभी से प्रायश्चित करवाया। भाजपा किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह ने संकल्प पढ़वाया।

भाजपा युवा मोर्चा की बिहार प्रदेश युवती प्रमुख दीक्षा प्रियंका ने उपमुख्‍यमंत्री तेजस्वी यादव पर तंज कसते हुए कहा कि सत्ता प्राप्ति के दो घंटे के अंदर 10 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देने के वादे से मुकर कर उन्होंने यह साबित कर दिया है कि यहां फ‍िर से जंगलराज आने वाला है। उन्‍होंने कहा नीतीश कुमार जैसे अवसरवादी नेताओं को हमने आज तक नहीं देखा। सत्‍ता पाने के लिए वे कुछ भी करते हैं। तेजस्‍वी, तेज प्रताप और नीतीश कुमार व राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह के बीच अब तक जो जुबानी जंग हो रही थी, वह एक पल में समाप्‍त हो गया और दोनों कुर्सी पाने एक जुट हो गए। उन्‍होंने कहा कि नीतीश कुमार ने भाजपा से गठबंधन तोड़कर अच्‍छा ही किया है, क्‍योंकि भाजपा ने हमेशा अपने सहयोगी पार्टियों के लिए खुद को समर्पित किया। लेकिन अब भाजपा अकेले यहां चुनाव लड़ेगी, जिससे कार्यकर्ताओं का मनोबल काफी बढ़ेगा। दीक्षा ने कहा कि बिहार में भाजपा काफी मजबूत है, उसे किसी सहयोगी पार्टी की आवश्‍यकता नहीं है। इसके बावजूद भी भाजपा ने राज्‍य के हित में यहां के क्षेत्रीय दलों के साथ गठबंधन किया था। नीतीश कुमार तो भाजपा के कारण ही बिहार में इतने वर्षों तक सत्‍ता में रहे और मुख्‍यमंत्री बने। भाजपा में एक के बढ़कर एक नेता हैं, जो बिहार को विकास के पथ की ओर अग्रसर करेंगे।

इस अवसर पर चिकित्सा प्रकोष्ठ के जिला संयोजक डॉ अनुराग कुमार, किसान मोर्चा के जिला महामंत्री अमित कुशवाहा, कार्यक्रम संयोजक रूपेश कुमार सहित दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित थे।

नीतीश कुमार को सिर्फ कुर्सी प्यारी, नीति और सिद्धांत से कोई मतलब नहीं

जमुई के चंद्रमंडीह प्रखंड मुख्यालय पर चकाई एवं माधोपुर भाजपा मंडल के कार्यकर्ताओं ने शालीग्राम पांडे एव मनोरंजन पांडे की अध्यक्षता में शनिवार को धरना दिया। धरना कार्यक्रम में जिला एवं प्रखंड स्तर के भाजपा कार्यकर्ता और नेता शामिल हुए। वरिष्ठ भाजपा नेता अंगराज राय ने कहा कि भाजपा और जदयू के गठबंधन को जनता ने पांच साल सरकार चलाने के लिए जनादेश दिया था। जिससे आम लोगों को सूबे में विकास की झलक दिखाई पड़ रही थी। बिहार विकास के रास्ते पर तेजी से बढ़ रहा था। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह बिहार के विकास के लिए तन-मन-धन से कार्य कर रहे थे।

बिहार सरकार को पूर्ण सहयोग किया जा रहा था लेकिन नीतीश कुमार ने जनादेश का अपमान कर बिहार वासियों को धोखा देने का काम किया। जिला उपाध्यक्ष संतु यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री ने बिहार में जनादेश का घोर अपमान किया है। नीतीश कुमार को सिर्फ कुर्सी से मतलब है। उन्हें नीति और सिद्धांत से कोई मतलब नहीं है। आने वाले चुनाव में जनता यह अपमान बर्दाश्त नहीं करेगी। शालीग्राम पांडे ने कहा कि अगर केंद्र सरकार की चल रही योजना को बिहार सरकार ने अवरुद्ध किया तो भाजपा पूरे बिहार में आंदोलन करेगी। इस अवसर पर मनोरंजन पांडे, धर्मवीर आनंद, अमित कुमार दुबे, मनोज पोद्दार, सुमन कुमार दुबे, गणेश स‍िंंह, रमेश पासवान, जन्मजय कुमार, चौधरी, गिरजानंद दुबे, लीलो साह, श्याम सुंदर वर्मा, प्रकाश वर्मा मौजूद थे।

Edited By: Dilip Kumar Shukla