भागलपुर [जेएनएन]। नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा के साथ ईस्टर्न बिहार चैंबर और प्रबुद्ध नागरिकों ने स्मार्ट सिटी योजना पर परिचर्चा की। चैंबर के अध्यक्ष अशोक भिवानीवाला ने मंत्री को कहा तीन वर्ष से सिर्फ सपना दिखाया गया।

अब स्मार्ट सिटी का नाम लेने पर लज्जा आती है। लोगों ने कहा, रिवर फ्रंट, सैंडिस कंपाउंड, स्मार्ट सड़क, कंट्रोल एंड कमांड, सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, टाउन हॉल समेत विकास योजनाओं की बैठकों में पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन पर कई बार दिखाया गया, लेकिन कार्य धरातल पर नहीं हुआ। सफाई, जल निकासी, शौचालय, पार्क, वेंडिंग जोन, सड़क, बस पड़ाव, ऑटो पड़ाव, हवाई सेवा की सुविधा बद से बदतर स्थिति में हैं। स्मार्ट सिटी के अधिकारियों की पूर्ण निष्ठा नहीं होने के कारण कार्य प्रभावित हुआ।

इस मौके पर मेयर सीमा साहा, जिला परिषद अध्यक्ष अनंत कुमार, डिप्टी मेयर राजेश वर्मा, अर्जित चौबे, श्रवण बाजोरिया, अभिषेक जैन, लक्ष्मी नारायण डोकानिया, अभिषेक डालमिया, सत्यनारायण प्रसाद, गिरधर गोपाल मावंडिय़ा, करण शर्मा, कुश पांडेय, अनुपम सिंघानिया, अविनाश साह, नीरज भिवानीवाला आदि उपस्थित थे।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस