BPSC 67th Prelims Exam, आनलाइन डेस्क (भागलपुर) : बीपीएससी 67वीं री-एग्जाम का आयोजन 30 सितंबर दिन शुक्रवार को दोपहर 12 से 2 बजे तक होगा। उम्मीदवारों को सुबह 11 बजे तक परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने की अनुमति दी गई है। मानें उन्हें हर हाल में परीक्षा केंद्र पर एक घंटे पहले मौजूद होना होगा। गाइडलाइन पहले की तरह ही हैं। किसी प्रकार की इलेक्ट्रानिक डिवाइस परीक्षा केंद्र में ले जाना कानूनन अपराध माना जाएगा। परीक्षा केंद्रों पर बिहार परीक्षा संचालन अधिनियम 1981 लागू किया गया है। 

  • दोपहर 12 बजे से 2 बजे तक परीक्षा।
  • बिहार परीक्षा संचालन अधिनियम 1981 लागू।
  • 802 रिक्त पदों के लिए कुल 6 लाख से अधिक आवेदन आए हैं।
  • केंद्रों के आसपास फोटो स्टेट की दुकान परीक्षा के दौरान बंद रहेंगी।
  • एग्जाम सेंटर के पास धारा 144 लागू रहेगी।
  • हथियार के साथ दिखे लोगों पर कार्रवाई की जाएगी।
  • परीक्षार्थियों को एक घंटे पहले दर्ज करानी होगी उपस्थिति।

दूर-दराज से परीक्षा देने के लिए निकले परीक्षार्थी रेलवे स्टेशन, बस स्टाप पर देखे गए हैं। वहीं कुछ ने होटल और लाज में भी शरण ली है। वहीं पुलिस प्रशासन भी इसको लेकर अलर्ट मोड पर है। अररिया समेत तमाम जिलों में चेकिंग अभियान चलाया गया है।

अररिया में परीक्षा केंद्र

बीपीएससी री-एग्जाम अररिया जिले में बनाए गए कुल 27 केंद्रों पर होगा, जिसमें जिला मुख्यालय अररिया में 19 एवं फारबिसगंज अनुमंडल मुख्यालय में 8 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। परीक्षा के कदाचारमुक्त संचालन हेतु छह परीक्षा केंद्र में दो-दो एवं अन्य परीक्षा केंद्रों में एक-एक स्टैटिक दंडाधिकारी तथा प्रत्येक परीक्षा केंद्र हेतु आवश्यकता अनुसार जोनल दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। सुपौल में होटल और लाज में चेकिंग अभियान चलाया गया। होटल संचालकों को सख्त दिशा निर्देश दिया गया कि किसी प्रकार की अनर्गल एक्टिविटी पर वे प्रशासन को सूचित करें।

भागलपुर में परीक्षा केंद्र 

डीएम सुब्रत कुमार सेन ने आयोजित होने वाली परीक्षा की तैयारियों का जायजा लिया। भागलपुर में शहरी क्षेत्र में 53 और नवगछिया में 5 केंद्र बनाए गए हैं। इसके लिए 28 जोन में बांटकर स्टेटिक दंडाधिकारी, गश्ती दल सह जोनल दंडाधिकारी, उड़न दस्ता सह सुपर जोनल दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी और पुलिस बल की तैनाती की गई है।

बांका में बनाए गए 23 परीक्षा केद्र

बांका में 23 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। इन केंद्रों पर नौ हजार के करीब परीक्षार्थी को शामिल होना है। अधिकांश परीक्षार्थी दूर दराज जिलों से आ रहे हैं। जबकि छात्राओं का परीक्षा केंद्र जिला में ही बनाया गया है। गुरुवार शाम से ही उनकी भीड़ शहर में दिखने लगी है।

खगड़िया में परीक्षा

बीपीएससी री-एग्जाम के लिए खगड़िया जिले में 20 केंद्र बनाए गए हैं। खगड़िया अनुमंडल में 14 और गोगरी में छह परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। कुल 10,416 परीक्षार्थियों को खगड़िया जिले में प्रारंभिक परीक्षा में सम्मिलित होना है। खगड़िया अनुमंडल में 14 परीक्षा केंद्रों पर कुल 7500 परीक्षार्थी, जबकि गोगरी अनुमंडल में छह परीक्षा केंद्रों पर 2916 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होंगे।

किशनगंज में 11 एग्जाम सेंटर

सीमावर्ती जिले किशनगंज में 5 हजार 940 परीक्षार्थियों के लिए 11 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। कदाचारमुक्त परीक्षा संचालन कराने और विधि-व्यवस्था संधारण के लिए 17 स्टैटिक दंडाधिकारी, 22 अन्य दंडाधिकारी और छह जोनल दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति किए गए। इनके साथ पुलिस पदाधिकारियों एवं सशस्त्र बलों को भी लगाया गया है। परीक्षा के सुचारू रूप से संचालन के लिए अपर समाहर्त्ता (लोक शिकायत) प्रमोद कुमार राम को सहायक संयोजक के रूप में नियुक्त किया गया है।

मधेपुरा में बीपीएससी एग्जाम

जिला मुख्यालय के 17 परीक्षा केन्द्रों पर करीब 8844 अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल होंगे। सेंटर पर कोई भी अभ्यर्थी इलेक्ट्रानिक गैजेट लेकर नहीं आ सकेंगे। उपद्रवी तत्वों द्वारा शांति भंग करने की आशंका को देखते हुए परीक्षा केंद्रों के आसपास निषेधाज्ञा लागू रहेगी। इसके तहत परीक्षा केंद्र के अहाते के 500 गज की दूरी के क्षेत्र में कोई भी व्यक्ति हथियार लेकर नहीं चलेगा।

मुंगेर में 33 परीक्षा केंद्र

जिला मुख्यालय सहित तारापुर, खड़गपुर और जमालपुर में भी केंद्र बनाए गए हैं। शहर में 16, जमालपुर में पांच, हवेली खड़गपुर व तारापुर में छह-छह केंद्र बनाए गए है। कुल 33 केंद्रों पर 12 हजार 600 छात्र परीक्षा में शामिल होंगे।

पूर्णिया में परीक्षा

धमदाहा अनुमंडल मुख्यालय के पांच केंद्रों पर बीपीएससी की परीक्षा आयोजित होगी। धमदाहा एसडीओ राजीव कुमार ने बताया कि बीपीएससी परीक्षार्थियों के लिए धमदाहा में कुल पांच केंद्र बनाया गया है। जिसमें धमदाहा उच्च विद्यालय, बीएनसी इंटर कालेज, बीएनसी डिग्री कालेज, मध्य विद्यालय धमदाहा अनुसूचित, मध्य विद्यालय धमदाहा हाट, शामिल है। सभी परीक्षा केंद्रों पर 500 गज की परीधि में धारा 144 लागू रहेगा।

सहरसा में परीक्षा केंद्र

जिले में 20 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। इन केंद्रों में 10 हजार 884 छात्र परीक्षा देने पहुंचेंगे। जिला स्कूल एवं सहरसा अभियंत्रण महाविद्यालय से 600- 600 परीक्षार्थियों को जोड़ा गया है। जबकि राजकीय कन्या उच्च विद्यालय, अनुग्रह नारायण स्मारक उच्च विद्यालय, रमेश झा महिला महाविद्यालय, मनोहर उच्च विद्यालय सहरसा एवं बैजनाथपुर तथा सेंट जेवियर्स विद्यालय केंद्र से 492-492 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होंगे। शहर के एमएलटी सहरसा महाविद्यालय, बुद्धा पब्लिक विद्यालय, एकलव्य सेंट्रल स्कूल केंद्र से 792-792 परीक्षार्थी परीक्षा में शरीक होंगे।

आरएम विधि महाविद्यालय से 300, एसएनएसआरकेएस महाविद्यालय से 540, रूपवती कन्या उच्च विद्यालय से 396, इवनिंग कॉलेज से 440, सेंट्रल स्कूल एवं प्रेमलता अमरेंद्र मिश्र महाविद्यालय से 348 -348 परीक्षार्थी आयोजित प्रारंभिक परीक्षा में शरीक होंगे। शहर के आरएम कालेज केंद्र से सर्वाधिक 996 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे।

सुपौल में बीपीएससी परीक्षा

जिले में नौ केंद्र बनाए गए हैं। 1. सुपौल उच्च माध्यमिक विद्यालय सुपौल, 2. बीबी बालिका उच्च विद्यालय सुपौल, 3. आरएसएम पब्लिक स्कूल सुपौल, 4. रजनीकांत पब्लिक स्कूल सुपौल, 5.हजारी उच्च माध्यमिक विद्यालय गौरवगढ़, 6. टीसी उच्च माध्यमिक विद्यालय चकला निर्मली सुपौल, 7. राधेश्याम टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज सुपौल, 8. उच्च माध्यमिक विद्यालय किशनपुर, 9. सेंट जेवियर सेकेंडरी स्कूल सुपौल में शुक्रवार को परीक्षा आयोजित की जाएगी।

कटिहार में परीक्षा

कटिहार में 41 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। जिले के कोढ़ा, प्राणपुर व मनिहारी में पहली बार बीपीएससी का परीक्षा केंद्र बनाया गया है। यहां परीक्षा के आयोजन को लेकर चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था की गई है। मनिहारी अनुमंडल मुख्यालय स्थित बीपीएसपी हाई स्कूल में परीक्षा केंद्र बनाया गया है। परीक्षा को लेकर विधि व्यवस्था संधारण व सुरक्षा को लेकर प्रशासनिक स्तर पर कड़ी व्यवस्था की गई है।

जमुई और लखीसराय में परीक्षा केंद्र

जमुई में 16 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। वहीं लखीसराय में 15 एग्जाम सेंटर बनाए गए हैं। सभी जगहों पर चाक चौबंद व्यवस्था है।

Edited By: Shivam Bajpai

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट