खगड़िया । कोसी क्षेत्र के लाइफ लाइन के नाम से प्रसिद्ध क्षतिग्रस्त बीपी मंडल सेतु का जीर्णोद्धार कार्य अंतिम चरण में है। 25 सितम्बर की संध्या से इस होकर यात्री पैदल आवागमन शुरू करेंगे। जबकि 26 सितम्बर को बाइक का परिचालन शुरू हो जाएगा। इसकी जानकारी रविवार को रालोसपा कार्यकर्ताओं की ओर से बीपी मंडल सेतु के उसराहा-डुमरी के पास किए गए हंगामे के दौरान मोबाइल से हुई वार्ता के क्रम में एनएच विभाग के कार्यपालक अभियंता उमाशंकर प्रसाद ने दी। बेलदौर सीओ अमित कुमार ने आंदोलनकारियों के नेताओं की बात मोबाइल पर कार्यपालक अभियंता से कराई। वहीं कार्यपालक अभियंता ने बताया कि 25 सितम्बर से पैदल और 26 से बाइक का परिचालन बीपी मंडल सेतु होकर शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि सेट¨रग खुलने के बाद जनवरी अथवा फरवरी से इस होकर भारी वाहनों का परिचालन आरंभ हो सकेगा।

मालूम हो कि वर्ष 2010 में बीपी मंडल सेतु के क्षतिग्रस्त होने के बाद बेलदौर प्रखंड का संपर्क जिला मुख्यालय से भंग हो गया था।सरकार की ओर से लगभग 11 करोड़ की लागत से स्टील पाइल ब्रिज का निर्माण सेतु के सामानान्तर किया गया। उक्त पुल भी 13 अगस्त 2014 की मध्य रात्रि में कोसी की तेज बहाव में बह गया। वर्ष 2015 में बीपी मंडल सेतु का जीर्णोद्धार कार्य आरंभ हुआ। जो हावड़ा ब्रिज के तर्ज पर है।

Posted By: Jagran